Pakistan Crisis: सुप्रीम कोर्ट से झटके बाद इमरान खान आज पाकिस्तान की जनता को…

Pakistan Crisis: सुप्रीम कोर्ट से झटके बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) आज (शुक्रवार) शाम राष्ट्र को संबोधित करेंगे। साथ ही इमरान ने शुक्रवार को कैबिनेट की एक बैठक भी बुलाई है। कैबिनेट बैठक के बाद वह पाकिस्तान की जनता को संबोधित करेंगे।

उन्होंने कहा कि वे आखिरी गेंद तक पाकिस्तान के लिए लड़ना जारी रखेंगे। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने इमरान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को खारिज करने के नेशनल असेंबली के डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी के विवादास्पद फैसले को गुरुवार को रद्द कर दिया।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 69 वर्षीय इमरान ने गुरुवार देर रात ट्वीट कर कहा कि मैंने शुक्रवार को कैबिनेट और पार्टी की बैठक बुलाई है। शुक्रवार शाम को मैं राष्ट्र को संबोधित करूंगा। उन्होंने कहा कि अपने देश के लिए मेरा संदेश है कि मैं हमेशा आखिरी गेंद तक पाकिस्तान के लिए लड़ता रहूंगा।

इमरान को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा बड़ा झटका

खान को गुरुवार को तब बड़ा झटका लगा जब पाक सुप्रीम कोर्ट ने उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को खारिज करने के डिप्टी स्पीकर के फैसले को रद्द कर दिया। पांच सदस्यीय पीठ ने संसद को भंग करने को सर्वसम्मति से ‘असंवैधानिक’ घोषित कर दिया। साथ ही शीर्ष अदालत ने नेशनल असेंबली को बहाल करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा कि संसद भंग करने और चुनाव कराने का प्रधानमंत्री का कदम असंवैधानिक था। यह फैसला क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान के लिए एक बड़ा झटका है।

चीफ जस्टिस उमर अता बंदियाल की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय पीठ ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए कहा कि डिप्टी स्पीकर का फैसला संविधान और कानून के विपरीत था। कोर्ट ने कहा कि इसका कोई कानूनी प्रभाव नहीं था और इसे रद्द किया जाता है। अदालत ने प्रधानमंत्री खान द्वारा राष्ट्रपति आरिफ अल्वी को नेशनल असेंबली भंग करने की सलाह को भी असंवैधानिक करार किया।

इमरान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी से जुड़े सूरी ने तीन अप्रैल को खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया था। सूरी ने दावा किया था कि यह सरकार को गिराने के लिए ‘विदेशी साजिश’ से जुड़ा है और इसलिए यह विचारयोग्य नहीं है। अविश्वास प्रस्ताव खारिज किए जाने के कुछ देर बाद, राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने प्रधानमंत्री खान की सलाह पर नेशनल असेंबली को भंग कर दिया था। अदालत ने सूरी के इस कदम के कुछ घंटे बाद स्वत: संज्ञान लिया था।

कल संसद में होगी वोटिंग

पाकिस्तान की शीर्ष अदालत ने स्पीकर को कल यानी 9 अप्रैल को सुबह 10 बजे नेशनल असेंबली का सत्र बुलाने का आदेश दिया है ताकि अविश्वास प्रस्ताव पर मतविभाजन किया जा सके। अदालत ने आदेश दिया कि यदि अविश्वास प्रस्ताव पारित हो जाता है तो नए प्रधानमंत्री का चुनाव कराया जाए।

प्रधानमंत्री खान को सत्ता से हटाने के लिए विपक्षी दलों को 342 सदस्यीय सदन में 172 सदस्यों की जरूरत है और पहले से ही उन्होंने जरूरत से ज्यादा संख्या बल दिखाया है। अब खान के सामने पाकिस्तान के इतिहास में पहला ऐसा प्रधानमंत्री होने की संभावना है, जिन्हें अविश्वास प्रस्ताव से बाहर कर दिया जाएगा।

2018 में सत्ता में आए थे इमरान

क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान ‘नया पाकिस्तान’ बनाने के वादे के साथ 2018 में सत्ता में आए थे। हालांकि, जरूरी वस्तुओं की कीमतों को नियंत्रण में रखने की बुनियादी समस्या को दूर करने में बुरी तरह विफल रहे। नेशनल असेंबली का वर्तमान कार्यकाल अगस्त, 2023 में समाप्त होना था। अभी तक कोई भी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर सका है।

Source

Leave a Comment