Narendra Modi Security चूक या साज़िश, सोशल मीडिया पर पहले से…; सिर्फ़ पंजाब पुलिस को पता था रूट

The News Air – (नई दिल्ली) पंजाब के फिरोजपुर में बारिश के कारण आयोजित रैली रद्द होने के बाद बठिंडा से सड़क मार्ग से हुसैनीवाला शहीद स्मारक जाते वक़्त पीएम मोदी (PM Modi) के क़ाफिले को रोकने का मामले को लेकर कई चौंकाने वाले राज़ सामने आ रहे हैं। इसमें पंजाब पुलिस की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े हो रहे हैं। बता दें कि मोदी का क़ाफिला एक फ्लाईओवर पर जाम में फंस गया था। यह जाम जानबूझकर लगाया गया था। क़रीब 20 मिनट तक पीएम यहां फंसे रहे, इसके बाद उनका क़ाफिला वापस लौट गया। न्यूज़ एजेंसी ANI के मुताबिक़, बठिंडा एयरपोर्ट पर लौटने के बाद पीएम मोदी ने पंजाब के अधिकारियों से कहा, “अपने सीएम को धन्यवाद कहना कि मैं भटिंडा एयरपोर्ट तक जिन्दा लौट पाया।”

यह भी पढ़ें- PHOTOS…पंजाब में मोदी को लेकर मचा बवाल, जमकर बरसी लाठियां, फुटे सिर, हाईवे पर खड़े रहे PM

सिर्फ़ पंजाब पुलिस को मालूम था पीएम का रूट

केंद्र सरकार के सूत्रों के अनुसार, पीएम मोदी किस रूट से निकलने वाले हैं, इसकी जानकारी सिर्फ़ पंजाब पुलिस को थी। जब मोदी का क़ाफिला जाम में फंसा रहा, तब पुलिस का बर्ताव बेहद गैर जिम्मेदाराना था। एक विटनेस के मुताबिक़-”पंजाब पुलिस का ऐसा बर्ताव पहले कभी नहीं देखा गया।” इससे पंजाब पुलिस की नीयत पर सवाल खड़े होने लगे हैं। माना जा रहा है कि पंजाब पुलिस और तथाकथित प्रदर्शनकारियों के बीच मिलीभगत रही होगी, वर्ना इतनी बड़ी चूक सामने नहीं आती। हाल के वर्षों में भारत के किसी प्रधानमंत्री की सुरक्षा में यह सबसे बड़ी चूक मानी जा रही है। प्रधानमंत्री की इस चूक पर गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार से जवाब मांगा है। गृह मंत्रालय ने पंजाब सरकार को इस मामले में दोषी अधिकारियों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है। चारों तरफ़ से आलोचना में घिरता देखकर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह पंजाब पुलिस के बचाव में आगे आए हैं। उन्होंने मीडिया को प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पीएम की सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई है। वे ख़ुद देर रात तक पीएम के दौरे को लेकर सुरक्षा व्यवस्था पर नज़र रखे हुए थे।

यह भी पढ़ें-20 मिनट तक यूँ फंसा रहा PM Modi का क़ाफिला, CM चन्नी ने नहीं उठाया फ़ोन!, पंजाब पुलिस से..

सोशल मीडिया पर चल रहा था विरोध

हैरानी की बात यह है कि मोदी के पंजाब दौरे के विरोध को लेकर कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर कैंपेन चल रहा था। पंजाब पुलिस ने इसे हलक़े में लिया। संयुक्त किसान मोर्चा(SKM) के सदस्य हरपाल सिंह संघा ने (Harpal Singh Sangha) ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डाली थी, जिसमें मोदी के पंजाब दौरे का विरोध किया गया था। ऐसी पोस्ट कुछ घंटे पहले भी twitter पर डाली गई थीं।

यह भी पढ़ें-मोदी अफ़सरों से बोले- मैं एयरपोर्ट तक जिन्दा पहुंच पाया, इसके लिए अपने CM को थैंक्स कहना

पंजाब सरकार पर उठे सवाल

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट करके कहा कि पंजाब की कांग्रेस सरकार विकास विरोधी है और उसे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की भी क़दर नहीं है। पंजाब की कांग्रेस सरकार ने पीएम मोदी को प्रोग्राम को रद्द करने लिए हर संभव हथकंडा अजमाया। यह दुखद है कि पंजाब के लिए हज़ारों करोड़ की विकास परियोजनाओं को शुरू करने के लिए पीएम का दौरा बाधित हो गया। लेकिन हम ऐसी घटिया मानसिकता को पंजाब की तरक़्क़ी में बाधक नहीं बनने देंगे और पंजाब के विकास के लिए प्रयास जारी रखेंगे।

यह भी पढ़ें-मोदी की सुरक्षा में हुई चूक, फंसा रहा PM का काफिला, BJ का आरोप- कांग्रेस की साजिश

असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा-यह शर्म की बात है कि पंजाब के कल्याण के लिए विकास योजनाओं को शुरू करने के रास्ते में प्रदर्शनकारियों ने पीएम मोदी के क़ाफिले को रोक दिया। ये सुरक्षा में एक गंभीर चूक है और तथ्य ये है कि पंजाब के मुख्यमंत्री ने इस मुद्दे को और भी बदत्तर बना दिया है। जहां पीएम पंजाब के समग्र विकास को सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं, वहीं आज की घटना से पता चलता है कि कैसे कांग्रेस को विकास में कम दिलचस्पी है और वे केवल राजनीति करना चाहती है। सीमावर्ती राज्य में इस तरह के सुरक्षा उल्लंघन की उच्चतम स्तर पर जांच होनी चाहिए।

Leave a Comment