मोदी सरकार बेच रही है सस्ता सोना, जानें कितनी होगी एक ग्राम सोने की क़ीमत

नई दिल्ली, 7 अगस्त (The News Air)
अगर आप सोने ने निवेश करना चाहते है तो आपके लिए एक बढ़िया मौक़ा आ रहा है। केंद्र सरकार की सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम (Sovereign Gold Bond Scheme 2021) के तहत आप सस्ती क़ीमत में गोल्ड बॉन्ड ख़रीद सकते है। सरकार ने निवेशकों के लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond Scheme) की पांचवी क़िस्त को लॉन्च कर दिया है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021-22 की पांचवी सीरीज़ की बिक्री 9 अगस्त 2021 से शुरू हो जाएगी। यह स्कीम 13 अगस्त को बंद होगी। वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने इस बारे में जानकारी दी। इसके अलावा SGB पर मेकिंग चार्ज भी नहीं देना पड़ता है और शुद्धता की चिन्ता भी नहीं रहती है।
एक यूनिट की क़ीमत 4,790 रुपए-वित्त मंत्रालय ने बयान में कहा कि इस इश्यू में निवेश करने के लिए एक यूनिट का मूल्य 4,790 रुपये होगा। भारत सरकार उन निवेशकों को 50 रुपए प्रति ग्राम छूट देगी जो ऑनलाइन आवेदन करेंगे और डिजिटल मोड के माध्यम से भुगतान करेंगे। एक यूनिट एक ग्राम सोने के बराबर होता है। इस स्कीम की पांचवीं क़िस्त के लिए तय क़ीमत चौथी क़िस्त के मुक़ाबले कम है। आपको बता दें कि चौथी सीरीज़ के बॉन्ड का इश्यू प्राइस 4,807 रुपये प्रति ग्राम था। चौथी सीरीज़ की बिक्री 12 जुलाई से शुरू हुई थी और 16 जुलाई 2021 को ख़त्म हुई थी।
यहां से ख़रीदें सस्ता सोना-गोल्ड बॉन्ड स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड, चुनिंदा पोस्ट ऑफ़िस, बैंकों, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड और बीएसई जैसे मान्यता प्राप्त शेयर बाज़ारों के माध्यम से बेचे जाएंगे। निवेशक इनमें से किसी भी एक जगह से गोल्ड बॉन्ड की ख़रीदारी कर सकते हैं। इसमें निवेश पर ब्याज के रूप में अतिरिक्त रिटर्न मिलता है।
गोल्ड बॉन्ड की शर्तें- गोल्ड बॉन्ड की स्कीम से जुड़ने के लिए कम से कम एक ग्राम की ख़रीदारी अनिवार्य है। ख़रीदने की अधिकतम सीमा 4 किलोग्राम तय की गई है। बॉन्ड की मैच्योरिटी अवधि 8 साल होती है। हालांकि, पांचवें साल के बाद इससे बाहर निकलने का विकल्‍प मिलता है। इस पर हर साल 2.50 फ़ीसदी मिलता है।

Leave a Comment