IDFC First बैंक के शेयरों में 4% से ज्यादा की रैली, 6 महीने में 80% चढ़ चुका है स्टॉक, क्या है एक्सपर्ट्स की राय?

IDFC First bank share price: IDFC फर्स्ट बैंक ने अपने निवेशकों को पिछले 6 महीने में जबरदस्त रिटर्न दिया है। ब्याज दरों में बढ़ोतरी और कॉर्पोरेट लोन मार्केट में ग्रोथ को देखते हुए एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस स्टॉक में आगे भी तेजी देखने को मिल सकती है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि IDFC फर्स्ट बैंक के खास क्रेडिट कार्ड ऑफरिंग और इंटरनेट क्रेडिट देने पर जोर ने इस प्राइवेट बैंक को देश के उभरते हुए बैंकों में से एक बना दिया है। आज भी इस शेयर में अच्छी-खासी तेजी देखने को मिली है। आज के कारोबार में यह स्टॉक NSE पर 4.17 फीसदी की तेजी के साथ 61.25 रुपये प्रति शेयर के भाव पर बंद हुआ है।

6 महीने में निवेशकों को 80 फीसदी रिटर्न

इस स्टॉक ने निवेशकों को पिछले 6 महीने में लगभग 80 फीसदी का जबरदस्त रिटर्न दिया है। जुलाई 2022 में इसके एक शेयर की कीमत 34.05 रुपये थी, जो आज के कारोबार में बढ़कर 61.25 रुपये प्रति शेयर के भाव पर पहुंच गई है।

एक्सपर्ट्स की राय

मार्केट एक्सपर्ट्स के मुताबिक IDFC फर्स्ट बैंक के शेयरों ने 45 रुपये प्रति शेयर के स्तर पर ब्रेकआउट दिया है और फिलहाल 45 से 60 के दायरे में कारोबार कर रहे हैं। अगर इसने 60 रुपये प्रति शेयर के लेवल को पार कर लिया तो यह 70 रुपये प्रति शेयर के लेवल तक जा सकता है। स्टॉक ने चार्ट पर एक हायर-हाई, हायर-लो पैटर्न बनाया है। ऐसे में उम्मीद है कि 70 के लेवल के बाद इसमें बड़ी तेजी देखने को मिले।

एनालिस्ट्स ने आगे कहा कि अगर IDFC बैंक का शेयर मूल्य 70 रुपये से ऊपर बना रहता है, तो यह स्टॉक शॉर्ट से मीडियम टर्म में तीन अंकों को छू सकता है। 2023 के अंत तक IDFC First Bank के शेयर की कीमत 120 रुपये प्रति यूनिट के स्तर पर पहुंच सकती है।

बेहतर हो सकते हैं तिमाही नतीजे

इसके अलावा बाजार को आगामी तिमाही के आंकड़ों में IDFC फर्स्ट बैंक के मार्जिन में मजबूत सुधार की उम्मीद है। IDFC फर्स्ट बैंक को रिटेल और कॉर्पोरेट बैंकिंग दोनों मोर्चों पर लाभ होने की संभावना है। IIFL सिक्योरिटीज में रिसर्च के वॉइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता ने बताया कि वे IDFC फर्स्ट बैंक के स्टॉक को लेकर पॉजिटिव क्यों थे। उन्होंने कहा, “किसी भी अन्य भारतीय बैंक की तरह, आईडीएफसी बैंक को अपने रिटेल बैंकिंग ऑपरेशन में तेज ब्याज दर पॉलिसी के चलते लाभ होने की उम्मीद है।”

Leave a Comment