Global market:कमजोर नतीजों के चलते Wall Street पर बना दबाव, दरों में बढ़ोतरी पक्की होने से निवेशक बिदके

शुक्रवार को वॉल स्ट्रीट में 2.5 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली। कल खत्म हुए हफ्ते में अमेरिकी के तीन अहम इंडेक्स लाल निशान में बंद हुए हैं। कई बड़ी कंपनियों के नतीजे कमजोर रहने और नियर टर्म में ब्याज दरों में आक्रामक तरीके से बढ़ोतरी की संभावना मजबूत होने से निवेशक बाजार से बिदकते नजर आए। शुक्रवार को लगातार तीसरे हफ्ते S&P 500 और Nasdaq लाल निशान में बंद हुए। वहीं डाओ जोंस लगातार चौथे हफ्ते गिरावट के साथ बंद हुआ।

शुक्रवार को डाओ जोंस ने 2.82 फीसदी की गिरावट देखने को मिली जो अक्टूबर 2020 के बाद अब तक एक दिन में आई सबसे बड़ी कमजोरी थी। अमेरिकी बाजारों में इस समय भारी उतार-चढ़ाव के बीच ट्रेडिंग काफी आम बात हो गई है। ट्रेडर कंपनियों के नतीजों और ब्याज दरों में बढ़ोतरी की खबरों के बीच बार-बार मूड बदलते नजर आ रहे हैं। Nasdaq में शुक्रवार अप्रैल महीने का आठवां ऐसा कारोबारी दिन रहा, जिसमें महीने के अब तक के 15 कारोबारी सत्रों में इंडेक्स या तो 2 फीसदी से ज्यादा भागा है या फिर 2 फीसदी से ज्यादा टूटा है। यह सामान्य बात नहीं है।

कल के कारोबार में S&P 500 में शामिल सभी 11 बड़े सेक्टर गिरावट के साथ बंद हुए। इनमें हेल्थ केयर सेक्टर 3.6 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ। इसी तरह मैटेरियल सेक्टर में 3.7 फीसदी की गिरावट देखने को मिली।

कल के कारोबार में डाओ जोंस 981.36 अंक यानी 2.82 फीसदी टूटकर 37811.4 पर बंद हुआ। वहीं, S&P 500 इंडेक्स 121.88 अंक यानी 2.77 फीसदी टूटकर 4,271.78 पर बंद हुआ। वहीं नैस्डेक कंपोजिट 335.36 अंक 2.55 फीसदी टूटकर 12839.29 पर बंद हुआ।

पूरे हफ्ते की इनकी चाल पर नजर डालें तो शुक्रवार को खत्म हुए हफ्ते में डाओ में 1.9 फीसदी की S&P में 2.8 फीसदी की और नैस्डेक में 2.8 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है। बता दें कि अगले हफ्ते अमेरिका की 4 सबसे बड़ी कंपनियों एप्पल, माइक्रोसॉफ्ट, ऐमजॉन और गूगल की पैरेंट अल्फाबेट के नतीजे आने वाले हैं। जिन पर बाजार की नजरें लगी हुई हैं।

बीते हफ्ते नेटफ्लिक्स के कमजोर नतीजों के चलते निवेशक परेशान नजर आ रहे हैं। नेटफ्लिक्स के कमजोर नतीजों के बाद बड़ी टेक कंपनियों को लेकर आशंका पैदा हो गई है। बता दें कि कोरोना महामारी के दौरान लॉकडाउन जैसे प्रतिबंधों के चलते टेक कंपनियों को बड़ा फायदा हुआ था। लेकिन लॉकडाउन हटने के साथ ही अब इन पर दबाव देखने को मिल सकता है।

डिस्क्लेमर: The News Air पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सार्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

Leave a Comment