Byju’s की एक महिला एंप्लॉयी ने बताया कैसे अचानक मांग लिया गया इस्तीफा, जानिए Linkedin पर उसने..

Byju’s ने 2,500 एंप्लॉयीज को नौकरी से हटा दिया है। हालांकि, कंपनी का दावा है कि उसने 500 से कम एंप्लॉयीज की छंटनी की है। नौकरी से हटाए गए कई कर्मचारी सदमे में हैं। उन्हें समझ नहीं आ रहा कि आखिर उनकी गलती क्या थी। वे बेहतर फ्यूचर की उम्मीद में कंपनी के लिए कड़ी मेहनत कर रहे थे। उन्हें समझ नहीं आ रहा कि उन्हें फिर कब नौकरी मिलेगी। उनके खर्च कैसे पूरे होंगे। नौकरी से हटाई गई एक एंप्लॉयी ने LinkedIn पर अपने अनुभव शेयर किए हैं।

महिला कर्मचारी ने बुधवार को लिंक्डइन पर लिखा, “आज हुई एक बहुत दुखद घटना में चार महीने काम करने के बाद मुझे बायजूस ने नौकरी से निकाल दिया है। इसकी कोई वजह नहीं बताई गई है।” उसने बताया है कि उसे और उसके टीम मैनेजर को नहीं पता है कि क्या हो रहा है।

उसने लिखा, “मैं पूरे दिन काम में लगी रही, फिर अचानक मुझे दोपहर बाद 3:15 बजे मीटिंग के लिए बुलाया गया। मुझे बताया गया कि मीटिंग मीडिया से जुड़े मेरे काम के बारे में है। मीटिंग में शामिल होने के बाद बताया गया कि मुझे नौकरी से निकाल दिया गया है, क्योंकि कंपनी टीम की साइज घटा रही है।”

उसने बताया है कि HR ने कहा है कि tomorrow मेरा आखिरी वर्किंग डे है। यह सुनने के बाद मैं पूरी तरह टूट गई। मुझे पता है कि मार्केट कंडिशन अच्छा नहीं है। फिर से नौकरी मिलना जितना हम समझते हैं उसके मुकाबले काफी मुश्किल है।

इस महिला कर्मचारी का कहना है कि इस कंपनी में उसके छह महीने भी पूरे नहीं हुए हैं। जॉब तलाशने के दौरान नई कंपनी को बताने के लिए उसके पास कुछ नहीं होगा। उसने लिखा है, “ज्यादा दुख की बात यह है कि मैं छह महीने भी इस कंपनी में पूरे नहीं कर पाई हूं। इस कंपनी में मैंने जो कड़ी मेहनत की है, उसका अगली कंपनी में मुझे कोई फायदा नहीं होगा।”

Byju’s के वर्क कल्चर के बारे में उसने कहा है, “दुनिया की सबसे बड़ी एडुटेक कंपनी बायजूस अपने खराब वर्क कल्चर के लिए जानी जाती है। लेकिन एक एंप्लॉयी के साथ इस तरह का व्यवहार बहुत अनैतिक है। मेरी संवेदना उन सभी लोगों के साथ है, जो मेरी तरह मुश्किल वक्त का सामना कर रहे है। बेरोजगारी ऐसी चीज हैं, जिसे कोई नहीं चाहता है।”

अभी Byju’s की वैल्यूएशन 22 अरब डॉलर है। बताया जाता है कि इसने अपनी ग्रुप कंपनियों में 2,500 लोगों को नौकरी से निकाल दिया है। इसके फाउंडर बैजू रवींद्रन कॉस्ट में कमी करने की कोशिश कर रहे हैं। इसकी वजह है कि पिछले दो साल में तेज ग्रोथ के बाद एडटेक सर्विसेज की मांग घट रही है।

Byju’s ने 27 और 28 जून को टॉपर और WhiteHat Jr. से 1,500 लोगों की छंटनी कर दी। इन कंपनियों का अधिग्रहण इसने पिछले दो साल में किया था। 29 जून को इसने अपनी कोर ऑपरेशन टीम के करीब 1,000 एंप्लॉयीज को इस बारे में ईमेल भेजा। हालांकि, गुरुवार को बायजूस ने कहा कि उसने अपनी दोनों कंपनियों से 500 से कम लोगों को नौकरी से हाटाया है।

Leave a Comment