89 साल के बुज़ुर्ग ने पत्नी-बेटी की गला काटकर की हत्या, जानें वजह

The News Air-मुंबई में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। बीमार पत्नी और मानसिक विक्षिप्त अविवाहित बेटी के पालन-पोषण में मुश्किल होने पर 89 वर्षीय रिटायर्ड सैनिक ने उनकी गला काटकर हत्या कर दी। हत्यारे पुरुषोत्तम सिंह गंढोक ने वारदात की सूचना पाकर मौक़े पर पहुँची पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। पुलिस पूछताछ में गंढोक ने कहा, दोनों को जिन्दा रखने से ज़्यादा सही उन्हें मारना लगा। हत्या में इस्तेमाल हथियार भी बरामद कर लिया गया है। मेघवाड़ी थाने में हत्या का मामला दर्ज़ किया गया है।

दस साल से बिस्तर पर थी गंढोक की पत्नी

पुरुषोत्तम की पत्नी जसबीर कौर पिछले दस साल से बीमार चल रही थीं और बिस्तर पर ही पड़ी रहती थी। बेटी कमलजीत कौर की मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं थी। पुरुषोत्तम सिंह अपनी उम्र के कारण इनकी देखभाल नहीं कर पा रहा था। रोज-रोज की परेशानी से तंग आकर बुज़ुर्ग ने सोमवार को पहले पत्नी का और उसके बाद बेटी का गला काट दिया।

कहा- नहीं देख सका अपनों का दर्द

पुरुषोत्तम ने पूछताछ में बताया कि उसकी पत्नी पिछले कई साल से घुटने के दर्द से परेशान थीं। इससे उन्हें चलने में काफ़ी दर्द होता था। वह बिस्तर पर पड़ी रहती थीं। उनकी एंजियोग्राफी भी हुई थी। उनकी 55 वर्षीय बेटी भी मानसिक रूप से बीमार थी। इस वजह से उन्हें ही सब कुछ करना पड़ता था। पुरुषोत्तम ने पुलिस को बताया कि वह दोनों के दर्द को देख नहीं पा रहा था। उसकी अपनी उम्र भी 89 साल की हो गई है, इसलिए बुज़ुर्ग ने यह क़दम उठाया। पुरुषोत्तम ने पुलिस को बताया कि सोने के दौरान उसने दोनों का गला काटा है।

वारदात के बाद बुज़ुर्ग ने अपनी दूसरी बेटी को फ़ोन किया

यह परिवार मुंबई के शेर-ए-पंजाब कॉलोनी की प्रेम संदेश सोसाइटी में रह रहा था। पुरुषोत्तम की दूसरी बेटी की शादी हो चुकी है। हत्या करने के बाद पुरुषोत्तम ने सोमवार को अपनी शादीशुदा बेटी को फ़ोन कर घटना की जानकारी दी।

जानकारी मिलते ही पुरुषोत्तम की दूसरी बेटी फ़ौरन अपने घर पहुंच गई। उसने अपने पिता को फ्लैट खोलने के लिए कहा, लेकिन पुरुषोत्तम ने उससे कहा कि जब तक पुलिस नहीं आएगी मैं दरवाज़ा नहीं खोलूंगा। इसके बाद बेटी ने पुलिस को फ़ोन कर वारदात की जानकारी दी। मौक़े पर पहुँची पुलिस टीम ने दरवाज़ा खुलवाया तो जसबीर कौर और कमलजीत कौर को ख़ून से लथपथ बेड पर पाया। पुरुषोत्तम ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

Leave a Comment