WFI Protest: खेल मंत्री के आश्वासन पर पहलवानों का धरना…

नई दिल्ली (The News Air) राजधानी दिल्ली (Delhi) से मिली बड़ी खबर के अनुसार, अब कुश्ती महासंघ (WFI) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (Brijbhushan Singh) के खिलाफ यौन उत्पीड़न (Molestation) के आरोपों की जांच होगी। इस बाबत बीते शुक्रवार खेल मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने पहलवानों के साथ देर रात तक मीटिंग की। वहीं करीब 7 घंटे तक चली मीटिंग के बाद पहलवानों ने अपना धरना खत्म करने का फैसला किया है। जानकारी हो कि, देश के बड़े पहलवान बीते 18 जनवरी से दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना-प्रदर्शन कर रहे थे।

क्या कहा खेल मंत्री ने 

वहीं मामले पर अनुराग ठाकुर ने बताया कि खिलाड़ियों ने कुश्ती संघ पर गंभीर आरोप लगाए हैं। ऐसे में अब एक एक ओवरसाइट कमेटी का गठन किया जाएगा, जो अगले 4 हफ्तों के अंदर के अपनी जांच पूरी करेगी। वहीं यह जांच पूरी होने तक एक कमेटी WFI का काम संभालेगी। तब तक बृजभूषण सिंह अपने आप को फेडरेशन के काम से अलग रखेंगे और जांच में सहयोग भी करेंगे।

क्या चाहते हैं सभी धरना दे रहे पहलवान 

वहीं मामले पर पहलवान बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) ने बताया कि, खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने हमारी मांगों को सुना और उचित जांच का आश्वासन दिया। हमें उम्मीद है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच होगी, इसलिए हम विरोध वापस ले रहे हैं। वहीं, इंडियन ओलिंपिक एसोसिएशन (IOA) ने भी बृजभूषण पर लगे आरोपों की जांच लिए एक 7 सदस्यीय कमेटी बनाई है। इसमें बॉक्सर मैरी कॉम और रेसलर योगेश्वर दत्त भी प्रमुखता से शामिल हैं।

ये है मामला 

जानकारी हो कि, भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) और WFI के अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Singh) के खिलाफ यौन शोषण के आरोप लगाए जाने पर फिलहाल बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और अन्य रेसलर जंतर-मंतर धरना-प्रदर्शन कर रहे थे। इसके साथ ही मामले पर ओलंपियन पहलवान विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और बजरंग पुनिया सहित 30 से अधिक पहलवानों ने कुश्ती महासंघ पर शोषण का और बृजभूषण सिंह पर मनमाने तरीके से संघ को चलाने का भी गंभीर आरोप लगाया था। जिस पर जवाब देते हुए बृजभूषण सिंह ने कहा था कि अगर यह आरोप अगर सिद्ध हुए तो वो फांसी लगा लेंगे। फिलहाल खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के हस्तक्षेप करने पर पहलवानों ने अपना धरना समाप्त कर दिया है।

Leave a Comment