आज पंजाब के लोग कहते हैं ‘पछताउंदा है पंजाब, बणाके कैप्टन दी सरकार’

चंडीगढ़, 31 मई

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के प्रधान और सांसद भगवंत मान ने कहा कि आज पंजाब में पंजाब की सरकार गैर उपस्थित है, क्योंकि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह तो पहाड़ों के बीच अपने महलों में बैठे हैं, जबकि मंत्री और विधायक अपनी, कुर्सियां बचाने के लिए दिल्ली के दरबार में बैठे हैं।

सोमवार को पार्टी के मुख्य दफ़्तर में पत्रकारों के साथ बातचीत करते भगवंत मान ने ‘चाहउंदा है पंजाब, कैप्टन दी सरकार’ नारे पर टिप्पणी करते कहा कि आज पंजाब के लोग कहते हैं ‘पछताउंदा है पंजाब, बना के कैप्टन की सरकार।’ उन्होने कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस पार्टी की ओर से 2017 में पेश किया चुनाव मैनिफेस्टो पत्रकारों के समक्ष रखते कहा कि कांग्रेस सरकार ने लिखित किये वायदे तो क्या पूरे करने थे, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने तो श्री गुटका साहिब की कसम खा कर पलट गए। श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और कोटकपूरा गोलीकांड के लिए जिम्मेदार दोषियों को आज तक कोई सजा नहीं मिली, बल्कि इस दुखद कांड के लिए जिम्मेदार लोग ख़ुशी मनाते घुम रहे हैं। आज भी प्रदेश में नशा माफिया, ट्रांसपोर्ट माफिया, केबल माफिया, रेत और माइनिंग माफिया उसी तरह चल रहा है, जैसे बादलों की सरकार में चलता था।

भगवंत मान ने कहा कि अच्छा होता अगर पंजाब की कांग्रेस सरकार दिल्ली जा कर कांग्रेस हाईकमांड को साथ लेकर प्रधान मंत्री नरिन्दर मोदी के पास किसान विरोधी कृषि बिल रद्द करवाने के लिए जाती। अच्छा होता अगर कैप्टन सरकार पंजाब के लोगों को कोरोना महामारी से बचाने के लिए दवाएं, वैक्सीन, वेंटिलेटर आदि लेने के लिए केंद्र की भाजपा सरकार के पास जाती, परन्तु कांग्रेसी नेता तो अपनी कुर्सियां बचाने के लिए दिल्ली जा कर बैठे हैं। मान ने कहा कि कैप्टन के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने पंजाब को लावारिस छोड़ दिया है क्योंकि आज पंजाब के लोगों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए जरूरी टीके, दवाएं और आई.सी.यू बेड ही नहीं हैं।

कैप्टन अमरिंदर सिंह की तरफ से गांवों को 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन हो जाने पर 10 लाख रुपए की ग्रांट देने के बयान पर टिप्पणी करते भगवंत मान ने कहा कि मुख्यमंत्री यह तो बताएं की टीके मिलते कहां से हैं? उन्होंने कहा कि प्रदेश के सेहत मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू के हलके में सरकारी अस्पताल, डिस्पेंसरियाँ टीकों का इंतजार कर रहे हैं। मान ने सुखबीर सिंह बादल को आड़े हाथों लेते कहा कि बादलों ने 10 साल लगातार राज करके सेहत सेवाएं, ट्रांसपोर्ट और सारी सरकारी व्यवस्था बर्बाद ही की है और अब सुखबीर बादल दावा करता कि अकाली दल की सरकार आने पर प्रदेश की औरतों को सरकारी ए.सी बसों में मुफ़्त सफर की सुविधा देंगे, परन्तु बादल परिवार अपनी, ए.सी बसों में अभी ही यह सुविधा क्यों नहीं देता।

आप के दिल्ली से विधायक और पंजाब मामलों के इंचार्ज जरनैल सिंह ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने अपना एक भी चुनावी वायदा पूरा नहीं किया। उद्योगों को 5 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली देने का वायदा करके कैप्टन ने पूरे देश में से महंगी बिजली उद्योगों को दी है। अब चुनाव नजदीक आने के कारण कैप्टन ने 50 पैसे प्रति यूनिट बिजली सस्ती की है, जब कि चार सालों के दौरान 10 रुपए प्रति यूनिट बढ़ौतरी की है। उन्होंने कहा कि पंजाब के लोग अकाली दल बादल के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी को भी वायदों से पलटने की सजा ज़रूर देंगे। इस समय पार्टी के महा सचिव हरचन्द सिंह बरसट, नीना मित्तल व सीनियर नेता नरिन्दर सिंह शेरगिल भी उपस्थित थे।  

Leave a Comment