कांग्रेस मैनिफेस्टो के 6 दावे तीन महीने पुराने, इतना योगी सरकार पहले से दे रही

The News Air- गुरुवार को वोटिंग से 18 घंटे पहले कांग्रेस ने अपना मैनिफेस्टो जारी किया। उसमें वादा किया कि कोरोना प्रभावित परिवार को 25 हज़ार रुपए की मदद की जाएगी। जबकि योगी सरकार 50 हज़ार रुपए की मदद पहले से कर रही है। ठीक इसी तरह वृद्धा और विधवा पेंशन 1000 करने की बात कही। योगी सरकार ने पेंशन को दिसंबर 2021 में ही 1000 कर दिया।

कांग्रेस का मैनिफेस्टो देखकर यही लगता है कि इसे 3 महीने पहले ही प्रिंट करवा के रख लिया गया। हम ऐसे ही 6 वादोंं को लेकर आए हैं। आइए एक-एक करके बताते हैं।

कोरोना प्रभावित परिवार को देगी 25 हज़ार, पहले ही मिल रहा 50 हज़ार

मैनिफेस्टो के पेज नंबर 7, प्वाइंट नंबर 4, कोरोना महामारी से सबसे अधिक प्रभावित परिवारों को 25,000 रुपए की आर्थिक मदद प्रदान की जाएगी।

सबसे अधिक प्रभावित का पैमाना समझना मुश्किल

18 अक्टूबर 2021 को योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया कि बीजेपी सरकार कोरोना मृतकों के परिवार को 50 हज़ार रुपए की आर्थिक मदद देगी। इसके लिए बकायदा डीएम को आदेश दिया गया है। कांग्रेस अपने घोषणा पत्र में 25 हज़ार देने की बात कर रही है। “कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित परिवार” लिखा है, ऐसे में ये समझ मुश्किल है कि सबसे अधिक प्रभावित का पैमाना क्या है?

दो लाख शिक्षकों की भर्ती, इस वक़्त 73 हज़ार पद ख़ाली

मैनिफेस्टो के पेज नंबर 23, प्वाइंट नंबर 4, उत्तर प्रदेश में शिक्षकों के दो लाख ख़ाली पदों को भरा जाएगा।

4,45,321 शिक्षक पदों में 3,71,610 भरे हैं

यूपी में बेसिक शिक्षा परिषद् के 1.58 लाख स्कूल हैं। इन स्कूलों के लिए 4,45,321 पद स्वीकृत हैं। इस वक़्त 3,71,610 शिक्षक बच्चों को पढ़ा रहे हैं। विभाग के मुताबिक़, 73,711 पद ख़ाली हैं। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में 2 लाख शिक्षकों की भर्ती का वादा किया है। शिक्षक भर्ती के वादे में कांग्रेस पार्टी ने बेसिक शिक्षा परिषद, मैट्रिक व इंटरमीडिएट कॉलेजों का ज़िक्र नहीं किया है।

वृद्धा पेंशन 1000 रुपए करने का वादा

कांग्रेस ने शक्ति विधान नाम से महिलाओं के लिए एक अलग से घोषणा पत्र जारी किया है। उसमें वृद्धा और विधवा पेंशन 1000 रुपए मासिक करने का दावा किया।

कांग्रेस के वादो से पहले ही 1000 मिल रहा

इस वक़्त वृद्धा-विधवा और दिव्यांग पेंशन 1000 रुपए मासिक ही है। ऐसे में कांग्रेस अगर सरकार में आती है तो उस पर इसे बढ़ाने के लिए किसी तरह का कोई दबाव नहीं होगा। क्योंकि, उन्होंने इससे अधिक का वादा ही नहीं किया।

ग्राम प्रधानों को 6 हज़ार रुपए महीने मिलेगा

मैनिफेस्टो का पेज नंबर 18, प्वाइंट नंबर 2, ग्राम प्रधान का वेतन बढ़ाकर 6 हज़ार रुपए प्रति माह किया जाएगा।

इस वक़्त की सरकार 5 हज़ार रुपए दे रही है

यूपी में ग्राम प्रधानों को इस वक़्त 5 हज़ार रुपए सैलरी मिलती है। प्रधानों की सैलरी औसतन हर तीसरे साल 15-20% बढ़ ज़ाती है। ऐसे में प्रधानों की सैलरी 2025 तक 7 हज़ार हो जाएगी। कांग्रेस का वादा 6 हज़ार देने का है। प्रधानों के लिए तो ये घाटे का सौदा नज़र आता है।

मरीज़ को 10 लाख तक के फ्री इलाज की पेशकश

मैनिफेस्टो का पेज नंबर 19, प्वाइंट नंबर 2, अस्पताल में भर्ती होने वाले हर मरीज़ के लिए 10 लाख रुपए तक के निःशुल्क उपचार की पेशकश की जाएगी।

इस वक़्त की सरकार 10 लाख का मुफ़्त इलाज दे रही है

यूपी में इस वक़्त दो तरह के मुफ़्त इलाज की स्कीम चल रही है। पहली केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योज़ना। दूसरी मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना। दोनों ही स्कीम के तहत 5-5 लाख रुपए के मुफ़्त इलाज की व्यवस्था है। 2021-22 के बजट में यूपी सरकार ने 100 करोड़ रुपए आवंटित भी किए। कांग्रेस वादा कर रही कि 10 लाख तक फ्री इलाज की पेशकश की जाएगी।

गन्ने का भाव 400 रुपए क्विंटल करने का वादा

मैनिफेस्टो के पेज नंबर 7, प्वाइंट नंबर 2, गन्ना 400 रुपए प्रति क्विंटल की दर से ख़रीदा जाएगा।

इस वक़्त यूपी सरकार 350 रुपए क्विंटल दे रही

इस वक़्त गन्ने का भाव 350 रुपए क्विंटल है। योगी सरकार ने 2017 से 2021 के बीच 45 रुपए बढ़ाए। 2012 से 2017 के बीच अखिलेश यादव ने 65 रुपए भाव बढ़ाए। 2007 से 2012 के बीच मायावती ने 115 रुपए प्रति क्विंटल गन्ने का भाव बढ़ाया। कांग्रेस सरकार बनने पर 400 रुपए क्विंटल में ख़रीदने की बात कर रही है।

Leave a Comment