तरन तारन की चर्च में बेअदबी और आग लगने की घटना की तेज़ी से जांच करने के लिए तीन सदस्यीय विशेष जांच टीम का गठन

चंडीगढ़, 2 सितम्बरः

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान और डीजीपी पंजाब गौरव यादव के दिशा-निर्देशों पर जांच ब्यूरो के डायरैक्टर ( बी. ओ. आई.) बी. चन्द्र शेखर ने तरन तारन जिले के गाँव ठक्करपुरा में एक गिरजाघर (चर्च) में बेअदबी और आग लगने की घटना की प्रभावी और तेज़ी से जांच को यकीनी बनाने के लिए तीन सदस्यीय विशेष जांच टीम (एस. आई. टी.) का गठन किया है।

इंस्पेक्टर जनरल पुलिस (आईजीपी) फ़िरोज़पुर रेंज के नेतृत्व वाली एस. आई. टी. में एस. एस. पी. तरन तारन और एस. पी इन्वेस्टिगेशन तरन तारन भी दो सदस्यों के तौर पर शामिल हैं।

taran taran blast ani 750 1567687092 618x347 1567707789

ज़िक्रयोग्य है कि मुख्यमंत्री ने बुधवार को पुलिस के डायरैक्टर जनरल (डीजीपी) को राज्य की शान्ति, ख़ुशहाली और तरक्की विरोधी ताकतों की तरफ से अंजाम दी इस घटना की बारीकी से जांच करने के निर्देश दिए हैं।डीजीपी गौरव यादव ने कहा कि एसआईटी इस मामले की रोज़मर्रा के आधार पर जांच करेगी और जल्द से जल्द माननीय अदालत में अंतिम रिपोर्ट पेश करने को यकीनी बनाऐगी। उन्होंने कहा कि एसआईटी केस की जांच में सहायता लेने के लिए किसी और अधिकारी/ कर्मचारी का सहयोग भी ले सकती है।

डीजीपी ने दोहराया कि अमन-कानून को कायम रखने के साथ-साथ पंजाब पुलिस पंजाब में शांतमयी माहौल और भाईचारक सांझ को कायम रखने के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि पुलिस टीमें हर पक्ष से मामले की जांच कर रही हैं और जल्द ही सभी दोषियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा और उनके खि़लाफ़ सख़्त से सख़्त कार्यवाही को यकीनी बनाया जायेगा।

इस मामले में आई. पी. सी. की धारा 295-ए, 452, 427, और 34 और हथियार एक्ट की धारा 25 के अंतर्गत एफ. आई. आर नं. 148 तारीख़ 31-8-2022 को तरन तारन के थाना सदर पट्टी में दर्ज की गई है।

Leave a Comment