H-1B Visa धारकों के जीवनसाथी को बड़ी राहत, अब मिलेंगे यह अधिकार

वाशिंगटन: अमेरिका (America) के बिडेन प्रशासन (Biden Administration) के एक बदलाव का अधिक फ़ायदा भारतीय महिलाओं को होने जा रहा है। यूएस के इमीग्रेशन फ्रेंडली (Immigration Friendly) क़दम से अब एच -1 बी वीज़ा धारकों (H-1B Visa Holders) के जीवनसाथी को ऑटोमेटिक वर्क़ ऑथराइजेशन परमिट (automatic work authorization permits) मिल जाएगा। अमेरिका के इस क़दम से हज़ारों भारतीय-अमेरिकी महिलाओं को लाभ होगा।

एक केस में समझौते के तहत हुआ निर्णय

इस संबंध में होमलैंड सिक्योरिटी विभाग द्वारा क्लास-एक्शन मुक़दमे में समझौता किया गया था, जिसे अमेरिकन इमिग्रेशन लॉयर्स एसोसिएशन (American Immigration Lawyers Association) ने अप्रवासी जीवनसाथी की ओर से दायर किया था।

एआईएलए (AILA) के जॉन वासडेन ने कहा “यह (एच -4 वीज़ा धारक) एक ऐसा समूह है जो हमेशा ईएडी (रोजगार प्राधिकरण दस्तावेज़) के स्वत: विस्तार के लिए नियामक परीक्षण को पूरा करता है, लेकिन एजेंसी ने पहले उन्हें उस लाभ से प्रतिबंधित कर दिया और उन्हें पुन: प्राधिकरण की प्रतीक्षा करने के लिए मजबूर किया। लोग पीड़ित थे। वे बिना किसी वैध कारण के अपनी उच्च-भुगतान वाली नौकरियों को खो रहे थे, जिससे उन्हें और अमेरिकी व्यवसायों को नुक्सान हो रहा था।”

मुक़दमे के निर्णय से अमेरिकी नागरिकता और आप्रवासन सेवा (यूएससीआईएस) नीति को सफलतापूर्वक उलट दिया, जिसने एच -4 पति-पत्नी को स्टैंड-अलोन ईएडी अनुप्रयोगों के लंबित रहने के दौरान उनके रोजगार प्राधिकरण के स्वत: विस्तार से लाभांवित होने से रोक दिया गया था।

बड़े पैमाने पर बदलाव आएगा

AILA ने कहा कि यह एक बड़ी उपलब्धि है, पार्टियों के समझौते से यूएससीआईएस के लिए स्थिति में बड़े पैमाने पर बदलाव आएगा, जो अब यह मानता है कि एल-2 पति-पत्नी को संयुक्त राज्य अमेरिका में काम करने से पहले रोजगार प्राधिकरण के लिए आवेदन करना होगा।”

AILA निदेशक जेसी ब्लेस ने कहा कि हम इस समझौते पर पहुंचकर प्रसन्न हैं, जिसमें वासन बनियास और स्टीवन ब्राउन के साथ हमारे मुक़दमेबाज़ी प्रयासों के माध्यम से एच -4 पति / पत्नी के लिए राहत शामिल है। यह संतुष्टि दायक है कि प्रशासन ने देखा कि गैर-आप्रवासी पति / पत्नी को ऑटोमेटिक वर्क़ ऑथराइजेशन परमिट मिल जाना चाहिए।

ओबामा प्रशासन ने एच-1बी वीज़ा धारकों के जीवनसाथी की कुछ श्रेणियों को काम करने का अधिकार दिया था। अब तक, 90,000 से अधिक एच-4 वीज़ा धारकों, जिनमें से एक महत्वपूर्ण बहुमत भारतीय-अमेरिकी महिलाएं हैं, को कार्य प्राधिकरण प्राप्त हुआ है।

Leave a Comment