कोरोना को लेकर लगी हटी पाबंदियां, यह छूट दी गई शहरवासियों को

The News Air- चंडीगढ़ में कोरोना को लेकर लगाई गई कई पाबंदियों को हटा दिया गया है। प्रशासक बीएल पुरोहित ने गुरुवार को उच्चाधिकारियों के साथ विशेष बैठक के दौरान कई अहम फ़ैसले लिए। प्रशासक ने मीटिंग के दौरान कोरोना के मौजूदा हालातों को लेकर संतुष्टि जताई। उन्होंने स्वास्थ्य अफ़सरों और कर्मियों का भी आभार प्रकट किया जिन्होंने तेज़ी से कोरोना से लड़ाई को लेकर सार्थक क़दम उठाए। इसके साथ ही उन्होंने शहर में 100 फ़ीसदी व्यस्कों को कोरोना की दोनों वैक्सीन लगा देने के लक्ष्य को हासिल करने पर बधाई दी।

यह छूट दी गई शहरवासियों को

अब सभी जिम और हेल्थ सेंटर रात 10 बजे तक 50 प्रतिशत की क्षमता के साथ खोले जा सकते हैं। हालांकि स्टाफ़ और जिम में आने वाले लोग पूरी तरह वैक्सीनेट हों। सभी मार्केट जिनमें मंडी भी शामिल है, उन्हें रात 10 बजे तक खुले रहने की अनुमति दी गई है। सुखना लेक में बोटिंग सुबह 5 से रात 10 बजे तक करने की अनुमति दी गई है। वहीं सुखना लेक के पास बनी दुकानों को कोविड नियमों के तहत और पूरी तरह सैनिटाइजेशन के बाद ही खोला जा सकेगा।

स्कूल फिर खुलेगें

1 फरवरी से शहर के स्कूलों में 10वीं से 12वीं कक्षा तक की क्लासें शुरू कर दी जाएंगी। सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेज भी पहले की तरह सामान्य रूप से खुलेंगे। वहीं लाइब्रेरी भी 50 फ़ीसदी क्षमता के साथ खुलेंगी। 15 वर्ष से ऊपर के स्टूडेंट्स को ऑफलाइन क्लास अटेंड करने के लिए कोरोना की पहली डोज़ जरुर लगी होनी चाहिए। वहीं सभी स्टाफ़ और 18 वर्ष से ऊपर के स्टूडेंट्स को दोनों डोज़ लगी होनी चाहिए। हालांकि इस संबंध में विस्तृत आदेश एजुकेशन सेक्रेटरी ही जारी करेंगे।

कोचिंग सेंटर्स 50 फ़ीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे

शहर में सभी कोचिंग सेंटर्स 50 फ़ीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे। इसमें भी 15 से 18 वर्ष के स्टूडेंट्स को कोरोना की 1 डोज़ और व्यस्कों को दोनों डोज़ लगी होनी चाहिए। वहीं प्रशासक ने लोगों से सार्वजनिक स्थानों पर कोविड प्रोटोकॉल की पालना करने को कहा है।

पुलिस को कार्रवाई के आदेश

प्रशासक ने पुलिस को आदेश दिया है कि शहर में कोरोना प्रोटोकॉल की सख़्ती से पालना हो। वहीं स्वास्थ्य विभाग को आदेश दिया गया है कि कोरोना में हो रहे बदलावों को बारीक़ी से देखते रहें और उचित क़दम उठाए जाएं। मोहाली में इस समय कोरोना के एक्टिव मामले 7774 हैं। वहीं पंचकूला में 1739 और चंडीगढ़ में 6149 एक्टिव केस हैं।

ई संजीवनी ओपीडी के तहत नई शुरुआत

मरीज़ों को घर बैठे डॉक्टरी परामर्श देने के मक़सद से शुरू की गई ई संजीवनी ओपीडी में नई शुरुआत की गई है। पहले शहर के 29 हेल्थ वेलनेस सेंटर्स में मरीज़ की डॉक्टरी सलाह लेने की शुरुआत की गई थी। वहीं दूसरे चरण में मरीज़ों की जीएमसीएच 32 और जीएमएसएच 16 के विशेषज्ञों से सलाह लेने की सुविधा शुरू की गई थी। इसमें अब तीसरा मॉडल जोड़ा गया है। इसके तहत जीएमएसएच 16 और जीएमसीएच 32 के विशेषज्ञ पीजीआई के महाविशेषज्ञों से सलाह ले पाएंगें। ऐसे में मरीज़ को ही लाभ मिलेगा।

Leave a Comment