राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने वाले खिलाडिय़ों का सम्मान करके पंजाब ने बाज़ी मारी, मुख्यमंत्री द्वारा 9.30 करोड़ रुपए के नकद इनामों से 23 खिलाड़ी सम्मानित

चंडीगढ़, 27 अगस्त: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बर्मिंघम में हाल ही में हुई राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने वाले पंजाब के 23 खिलाडिय़ों का आज 9.30 करोड़ रुपए के नकद ईनाम से सम्मानित किया। मुख्यमंत्री की इस पहल से पंजाब, बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल के खिलाडिय़ों का सम्मान करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है।

यहाँ म्यूंनीसिपल भवन में जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘यह हमारी सरकार द्वारा देश का नाम रौशन करने के लिए आपके द्वारा की गई कड़ी मेहनत के सम्मन में एक विनम्र सा प्रयास है।’’

खिलाडिय़ों के साथ बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने खेल के क्षेत्र में राज्य की पुरातन शान बहाल करने के लिए राज्य सरकार की दृढ़ प्रतिबद्धता को दोहराया। उन्होंने कहा कि इस संबंधी राज्य द्वारा पहले ही सख्त प्रयास किए जा रहे हैं। भगवंत मान ने कहा कि राज्य के खिलाडिय़ों को नकद ईनामों से सम्मानित किया जा रहा है, जिससे उनको और अन्य उभरते खिलाडिय़ों को खेल में उपलब्धियाँ पाने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।

मुख्यमंत्री ने ज़ोर देकर कहा कि हमारे खिलाडिय़ों ने राज्य का नाम रौशन किया है और अब इन उपलब्धियों को मान्यता देने की जि़म्मेदारी राज्य सरकार की है। विश्व स्तर पर मुकाबला करने के लिए खेल के बुनियादी ढांचे की सख़्त ज़रूरत का जि़क्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें खेल में बढिय़ा प्रदर्शन करने की प्रतिभा स्वाभाविक रूप से विरासत में मिली है और यदि मौका दिया गया तो यह खिलाड़ी पूरी दुनिया में हिम्मत से विजेता बनने का इरादा लेकर मुकाबले में उतरेंगे। भगवंत मान ने कहा कि इस विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचे के लिए पेशेवर प्रशिक्षकों के साथ-साथ ख़ुराक और अन्य सुविधाओं की ज़रूरत है।

मुख्यमंत्री ने स्पष्ट रूप से कहा कि राज्य सरकार ने गाँव स्तर पर नए स्टेडियम बनाने के लिए पहले ही खेल के बजट में वृद्धि की है, जहाँ से स्वाभाविक रूप से प्रतिभा पैदा होती है, परन्तु दुख इस बात का है कि अब तक इस को नजरअन्दाज किया गया था। 29 अगस्त से शुरू हो रही ‘खेडाँ वतन पंजाब दियाँ’ संबंधी बात करते हुए उन्होंने उम्मीद अभिव्यक्त की कि यह खेल खिलाडिय़ों की असंख्य ऊर्जा को सकारात्मक दिशा की ओर ले जाकर राज्य में खेल गतिविधियों को बढ़ावा देंगी। भगवंत मान ने कहा कि ऐसे ठोस प्रयास खिलाडिय़ों को खेल के क्षेत्र में प्रसिद्धि हासिल करने के लिए उपयुक्त मंच प्रदान करेंगें।

मुख्यमंत्री ने इस बात पर ज़ोर दिया कि स्कूलों में खेल संस्कृति को प्रफुल्लित करने के लिए राज्य सरकार डी.पी. और पी.टी.आई. अध्यापकों की भर्ती युद्ध स्तर पर कर रही है। खिलाडिय़ों के साथ अपने तजुर्बे साझे करते हुए भगवंत मान ने खेल के प्रति प्यार का भी खुलासा किया और बताया कि हॉकी के साथ प्यार उनको अपने पिता से विरासत में मिला है।

मुख्यमंत्री ने हॉकी के महान खिलाडिय़ों जैसे कि बलबीर सिंह सीनियर, सुरजीत सिंह, धनराज पिल्ले, गगन अजीत सिंह और अन्य खिलाडिय़ों को भी याद किया, जिन्होंने हॉकी में देश का नाम रौशन किया। उन्होंने गुरजंट, मनप्रीत, अकाशदीप और अन्यों को आज के समय के चमकते सितारे बताते हुए आशा अभिव्यक्त की कि देश इन महान खिलाडिय़ों के सहारे एक बार फिर से विश्व स्तर पर सफलता की कहानी लिखेगा। हॉलैंड के प्रसिद्ध ड्रैग फ्लिक्कर फ्लोरिस जॉन बोललैंडर, टैनिस की महिला खिलाड़ी मार्टिना नवरातिलोवा और बोरिस बेकर को याद करते हुए भगवंत मान ने कहा कि आज के समय में खेल के नियम बहुत बदल रहे हैं, इसलिए हमें इन नियमों के मुताबिक तेज़ी से ढलना होगा।

मुख्यमंत्री ने ख़ास तौर पर क्रिकेट खिलाड़ी हरलीन दियोल के इंग्लैंड के खि़लाफ़ किए गए बेमिसाल कैच को याद किया और महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर को विशेष रूप से मुबारकबाद दी। उन्होंने कहा कि खेल के क्षेत्र के इन चमकते सितारों की हाजिऱी मेरे लिए गर्व की बात है। भगवंत मान ने दृढ़ता से कहा कि पंजाब पुलिस की हॉकी टीम, जे.सी.टी. फगवाड़ा और रेल प्रशिक्षक फैक्ट्री की फ़ुटबॉल टीमों को पुनर्जीवित करने के लिए युद्ध स्तर पर कोशिशें जारी हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बर्मिंघम खेल में पंजाब के 23 खिलाडिय़ों ने हिस्सा लिया। इनमें से 19 खिलाडिय़ों ने रजत और चार काँस्य पदक जीते। उन्होंने वेटलिफ्टर विकास ठाकुर, हॉकी खिलाडिय़ों मनप्रीत सिंह, हरमनप्रीत सिंह, आकाशदीप सिंह, मनदीप सिंह, गुरजंट सिंह, हार्दिक सिंह, वरुण कुमार, कृष्ण पाठक, शमशेर सिंह। जरमनजीत सिंह और जुगराज सिंह और महिला क्रिकटरों हरमनप्रीत कौर, हरलीन दियोल और तानिया भाटिया, वेटलिफ्टर हरजिन्दर कौर, लवप्रीत सिंह और गुरदीप सिंह, महिला हॉकी खिलाड़ी गुरजीत कौर को नकद ईनाम दिए। इसके अलावा जूडो खिलाड़ी जसलीन सैनी, एथलीट नवजीत कौर ढिल्लों, साइक्लिस्ट नमन कपिल और विश्वजीत सिंह का भी नकद ईनाम से सम्मानित किया गया। इस दौरान खेल मंत्री गुरमीत सिंह मीत हेयर ने बताया कि खेल का बजट 56 प्रतिशत बढ़ाया गया है और खिलाडिय़ों के लिए अन्य सहायक सुविधाओं का प्रबंध किया गया। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री 29 अगस्त को जालंधर में वॉलीबॉल खेलकर ‘खेडाँ वतन पंजाब दियाँ’ का आग़ाज़ करेंगे।

इस मौके पर प्रमुख सचिव खेल राज कमल चौधरी, डायरैक्टर खेल राजेश धीमान, पद्म श्री एथलीट सुनीता रानी, अर्जुन पुरस्कार विजेता सज्जन सिंह चीमा और गगन अजीत सिंह, ओलम्पियन जगदीश बिश्नोयी, एशियन मैडलिस्ट भलवान गुरमुख सिंह, राष्ट्रमंडल खेल के पदक विजेता जूडो खिलाड़ी भुपिन्दर सिंह उपस्थित थे।

Leave a Comment