India’s Services PMI : दिसंबर में बढ़कर 58.5 के स्तर पर पहुंचा सर्विसेज पीएमआई, दिख रही इकोनॉमी की अच्छी तस्वीर

India’s Services PMI :  भारत के सर्विस सेक्टर के पीएमआई में एक बार फिर दिसंबर में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। सेक्टर का परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (Purchasing Managers’ Index) 2022 के आखिरी महीने में बढ़कर 58.5 के स्तर पर पहुंच गया, जो नवंबर में 56.4 था। बुधवार, 4 जनवरी को एसएंडपी ग्लोबल (S&P Global) द्वारा जारी डेटा से यह बात सामने आई है। सर्विसेज पीएमआई (services PMI) का 50 के स्तर से ऊपर होने का मतलब है कि एक्टिविटी में बढ़ोतरी होता है। इस प्रकार, लगातार 17वें महीने भारत का सर्विसेज पीएमआई 50 से ऊपर बना हुआ है।

मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई भी मजबूत

दो दिन पहले ही मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई (manufacturing PMI) का डेटा जारी हुआ था, जो दिसंबर में 26 महीने के हाई 57.8 के स्तर पर पहुंच गया। नतीजतन कम्पोजिट पीएमआई दिसंबर में बढ़कर 59.4 हो गया, जो नवंबर में 56.7 के स्तर पर था।

अभी कई क्षेत्रों में हैं क्षमताएं

एसएंडपी ग्लोबल मार्केट इंटेलिजेंस इकोनॉमिक्स एसोसिएट डायरेक्टर पॉलियाना डि लीमा ने कहा, पॉजिटिव सेंटीमेंट और नए बिजनेस की मौजूदा ग्रोथ से जॉब मार्केट को सपोर्ट मिल रहा है, लेकिन ऐसे क्षेत्र थे जहां वर्तमान जरूरतों को पूरा करने लिए पर्याप्त क्षमताएं थीं।

क्यों बढ़ा था मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई

मजबूत मांग और नए ऑर्डर में उछाल के दम पर पिछले महीने देश के मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर में ग्रोथ बेहतर रही। नवंबर 2021 के बाद से प्रोडक्शन में सबसे तेज उछाल दिसंबर 2022 में रही। लगातार 18वें महीने मैन्यूफैक्चरिंग पीएमआई 50 पार रहा है। पिछले महीने दिसंबर में यह 57.8 रहा जो 26 महाने में सबसे अधिक है। अक्टूबर-दिसंबर 2022 में औसतन पीएमआई 56.3 पर रहा जो एक साल में सबसे अधिक रहा।

मजबूत मांग के चलते पिछले महीने दिसंबर में कंपनियों ने प्रोडक्शन बढ़ाया। नवबंर 2021 के बाद से यह सबसे तेज रही।

Leave a Comment