पंजाब में रोकी गईं हिमाचल नंबर की गाड़ियां:प्रतिबंधित झंडे बने वजह; CM..

The News Air- पंजाब के किरतपुर में हिमाचल नंबर की गाड़ियां रोके जाने के मामला मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पंजाब सरकार के समक्ष उठाया। जिसके बाद पंजाब सरकार ने भरोसा दिया है कि भविष्य में इस तरह की घटनाएं दोबारा नहीं होगी। जयराम ठाकुर ने बताया कि विवाद किस कारण उपजा है इसे लेकर पूरी रिपोर्ट तलब कर दी गई है।

प्रतिबंधित झंडे लगाकर आए थे पंजाबी युवक

दरअसल, पंजाब के कुछ युवक कुछ दिन पहले हिमाचल के बिलासपुर में प्रवेश कर रहे थे। इस दौरान युवकों की गाड़ी पर पंजाब में प्रतिबंधित झंडे लगे हुए थे। इन झंडों में भिंडरावाला के फ़ोटो व कुछ अन्य आपत्तिजनक चित्र भी चस्पा थे, जिसकी इजाज़त नहीं दी जा सकती।

किरतपुर में रोकी हिमाचल गाड़ियां

इसे देखते हुए बिलासपुर पुलिस ने ऐसे वाहन चालकों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की। इससे नाराज़ पंजाब के कुछ लोगों ने एक-दो दिन पहले किरतपुर में हिमाचल नंबर की गाड़ियां रोकी। इसका सोशल मीडिया पर वीडियो भी वायरल हो रहा है। इसमें विरोध करने वाला व्यक्ति कह रहा है कि हिमाचल में उनकी गाड़ियां भी रोकी गई हैं।

प्रतिबंधित झंडे लगाना दुर्भाग्यपूर्ण

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि इसके पीछे राष्ट्रविरोधी तत्वों का हाथ लग रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब के श्रद्धालुओं से कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन प्रतिबंधित झंडे व पोस्टर लगाना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि हिमाचल की गाड़ियों रोके जाने के बारे में जानकारी माँगी गई है। राज्य सरकार इसे लेकर गंभीर है। इस मामले में क़ानून के तहत कार्रवाई होनी चाहिए।

शक्तिपीठों में दर्शन को पहुंचते हैं पंजाब के श्रद्धालु

गौरतलब है कि इन दिनों पंजाब के हज़ारों श्रद्धालु ऊना, मंडी, कुल्लू और बिलासपुर के अलग-अलग शक्तिपीठों में दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। इस दौरान कुछ पंजाबी युवक प्रतिबंधित झंडों का इस्तेमाल भी कर रहे हैं। इस पर प्रदेश की पुलिस मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कार्रवाई कर रही है।

Leave a Comment