Delhi Sultanpuri Accident: मामले में दो नए आरोपियों की एंट्री, सबूतों से हुई छेड़छाड़, जांच में जुटी दिल्ली पुलिस की 18 टीम

Delhi Sultanpuri Accident: दिल्ली के सुल्तानपुरी में 20 साल की अंजली की मौत का मामला (Anjali Death Case) हर दिन एक नया मोड़ ले रहा है। हर रोज नए-नए दावे और खुलासे सामने आ रहे हैं। साथ ही उन दावों पर भी सवाल उठ रहे हैं। इस बीच गुरुवार को दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने बताया कि घटना में गिरफ्तार किए गए पांच आरोपियों के अलावा और भी लोग शामिल थे।

1 जनवरी की रात अंजली को एक कार ने टक्कर मार कर कई किलोमीटर तक घसीटा और इसके बाद सड़क पर उसकी लाश मिली थी।

दिल्ली के स्पेशल CP लॉ एंड ऑर्डर सागर प्रीत हुड्डा ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने बताया, “हमारी 18 टीम इसमें काम कर रही हैं। हमने 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। पूछताछ में हमें पता लगा है कि इसमें 2 और लोग आशुतोष व अंकुश खन्ना भी शामिल हैं। हमारी टीम छापेमारी कर रही है।”

‘नया आरोपी अमित चला रहा था गाड़ी’

सागर प्रीत हुड्डा ने ये भी बताया कि गाड़ी आरोपी दीपक नहीं चला रहा था। उन्होंने बताया, “पूछताछ में हमें यह भी पता चला कि कार अमित चला रहा था, दीपक नहीं। इस मामले में दो और लोगों को भी आरोपी बनाया गया है। हम उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश कर रहे हैं। पोस्टमॉर्टम के दौरान यौन शोषण का कोई सबूत नहीं मिला।”

अधिकारी ने कहा कि हम जल्द से जल्द चार्जशीट फाइल करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने बताया, “दिल्ली पुलिस की कुल 18 टीमें इस मामले की जांच कर रही हैं। दो नए आरोपियों ने सबूतों से छेड़छाड़ करने की कोशिश की है और आरोपियों की मदद करने की कोशिश करते हुए गलत जानकारी दी है।”

स्पेशल CP ने आगे कहा कि गवाह निधि का बयान दर्ज किया गया है। चश्मदीद और आरोपी के बीच कोई संबंध नहीं मिला।

उन्होंने ये भी कहा, “पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद ही हम कुछ बयान दे सकते हैं कि वह नशे में थी या नहीं। इसका इस मामले से कोई संबंध नहीं है, क्योंकि यह IPC की धारा 304 का मामला है।”

इससे पहले सुल्तानपुरी केस का एक CCTV फुटेज सामने आया है। ये फुटेज घटना के बाद का है, जिसमें आरोपियों का देखा जा सकता है।

इसके अलावा एक नया CCTV फुटेज भी सामने आया है, जिसमें बलेनो कार के ठीक पीछे एक PCR वैन दिख रही है, जो उस दुर्घटना में शामिल थी। CCTV फुटेज से पता चलता है कि उस समय दुर्घटना स्थल के पास एक PCR वैन थी, लेकिन सूत्रों ने कहा कि वह बलेनो कार का पीछा नहीं कर रही थी और किसी दूसरी की शिकायत मिलने पर स्पॉट पर जा रही थी।

Leave a Comment