अमेरिका के Portsmouth शहर में Bitcoin से की जा सकेगी बिल की पेमेंट

क्रिप्टोकरेंसीज को अमेरिका में अभी तक पेमेंट के एक विकल्प के तौर पर कानूनी दर्जा नहीं मिला है। हालांकि, इसके New Hampshire राज्य के Portsmouth शहर में निवासियों को बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसीज के जरिए इलेक्ट्रिसिटी बिल्स का भुगतान करने की अनुमति दी गई है। सामान्य करेंसी के साथ पेमेंट करने का विकल्प भी बरकरार रहेगा। क्रिप्टोकरेंसीज रखने वाले Portsmouth के निवासी बिल की पेमेंट के लिए इनका इस्तेमाल कर सकेंगे।

Portsmouth के मेयर Deaglan McEachern का मानना है कि इससे लोगों को पेमेंट के अधिक विकल्प मिल सकेंगे। Seacoast Online की रिपोर्ट में McEachern के हवाले से कहा गया है, “मैं यह पक्का करना चाहता हूं कि Portsmouth यह देखने का इंतजार न करे कि यह कैसा प्रभाव डालने वाला है क्योंकि इसका प्रभाव पहले ही दिख रहा है।” Portsmouth में क्रिप्टो ट्रांजैक्शंस की सुविधा PayPal के जरिए मिलेगी। Portsmouth की रेवेन्यू एडमिनिस्ट्रेटर Nancy Bates ने बताया, “PayPal एकाउंट में क्रिप्टोकरेंसी रखने वाले उपभोक्ता पेमेंट के लिए उस क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल कर सकेंगे।”

अमेरिका में न्यूयॉर्क और मियामी सहित कुछ अन्य शहरों में भी बिल की पेमेंट के लिए क्रिप्टोकरेंसीज के इस्तेमाल की अनुमति है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस महीने की शुरुआत में डिजिटल एसेट्स से जुड़े एक एग्जिक्यूटिव ऑर्डर पर हस्ताक्षर किए थे। इसमें फेडरल रिजर्व से इस पर विचार करने को कहा गया है कि उसे अपनी डिजिटल करेंसी जारी करनी चाहिए या नहीं। इसमें ट्रेजरी डिपार्टमेंट और अन्य एजेंसियों को क्रिप्टोकरेंसीज के फाइनेंशियल सिस्टम और सिक्योरिटी पर असर की स्टडी करने का निर्देश भी दिया गया है।

हालांकि, यूरोपियन यूनियन के रेगुलेटर्स ने हाल ही में चेतावनी दी थी क्रिप्टोकरेंसीज में इनवेस्टमेंट करने वाले अपनी पूरी रकम गंवाने के लिए तैयार रहें। इससे संकेत मिलता है कि क्रिप्टो में इनवेस्टमेंट करने वालों के पास EU के फाइनेंशियल सर्विसेज कानून के तहत कोई सुरक्षा या मुआवजे का प्रावधान नहीं है। रेगुलेटर्स इससे चिंतित हैं कि Bitcoin और Ether सहित क्रिप्टोकरेंसीज में इनवेस्टमेंट करने वालों की संख्या बढ़ रही है। क्रिप्टो के कुल मार्केट में Bitcoin और Ether की हिस्सेदारी 60 प्रतिशत की है। रेगुलेटर्स का कहना है कि लोगों को क्रिप्टोकरेंसीज से जुड़े रिस्क की पूरी जानकारी नहीं है। हाल के महीनों में क्रिप्टो से जुड़े स्कैम के मामले बढ़े हैं। इस वजह से रेगुलेटर्स इस सेगमेंट की स्क्रूटनी बढ़ाना चाहते हैं।

Leave a Comment