AAP सरकार में 14 किसानों की ख़ुदकुशी, विरोधी बोले- ‘अप्रैल फूल’ बनाया

The News Air: पंजाब में आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार किसानों की ख़ुदकुशी के मुद्दे पर घिर गई है। अप्रैल महीने में अब तक 14 किसान ख़ुदकुशी कर चुके हैं। चुनाव प्रचार के वक़्त AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा था – ‘मार्च में नतीजे आ जाएंगे। 1 अप्रैल के बाद से पंजाब के अंदर किसी को ख़ुदकुशी नहीं करने देंगे। हमारी ज़िम्मेदारी है’। इसको लेकर अब विरोधी आप पर हमलावर हो गए हैं। कांग्रेस ने इसे केजरीवाल का अप्रैल फूल क़रार दिया है। वहीं किसान नेता बलबीर राजेवाल ने CM को चिट्‌ठी लिखी कि पुलिसकर्मियों की तर्ज पर मान सरकार किसानों के परिवार को एक करोड़ मुआवज़ा दे।

कहां-कहां की किसानों ने ख़ुदकुशी

भारतीय किसान यूनियन (उगराहां) के मुताबिक़ 1 अप्रैल को गुरुहरसहाय में सुखदेव सिंह (68) ने फंदा लगाया। 2 अप्रैल को गुरदासपुर के प्रभवीर सिंह(40) और मोगा के अवतार सिंह ने ख़ुदकुशी की। अवतार पर 3 लाख का क़र्ज़ा था। 9 अप्रैल को मोगा के रणजीत सिंह (45) ने 80 लाख के लोन से तंग आकर सल्फास निगल लिया। 13 अप्रैल को जालंधर के अमृतपाल मेहता (44) ने जान दे दी।
14 अप्रैल को फाजिल्का के सादिक गांव के काला सिंह और बरनाला के खेत मज़दूर अमरजीत सिंह ने क़र्ज़े से जान दे दी। 17 अप्रैल को कपूरथला में युवक ने ख़ुदकुशी की। 18 अप्रैल को बठिंडा के बाजक गांव के रमनदीप सिंह (38) ने गेहूँ की कम पैदावार की वजह से जान दे दी। 19 अप्रैल को मानसा के मक्खन सिंह (42) ने ख़ुदकुशी की। 20 अप्रैल को गेहूँ की कम पैदावार होने से बठिंडा के माइसरखाना गांव के जसपाल सिंह ने ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी।
इसी दिन बठिंडा के मानसा ख़ुर्द के किसान गुरदीप सिंह(28) ने 3.25 लाख लोन न चुका पाने पर ख़ुदकुशी कर ली। 21 अप्रैल को तलवंडी साबो के भागीबांदर गांव के रणधीर सिंह और 23 अप्रैल को होशियारपुर के मनजीत सिंह(40) ने ख़ुदकुशी कर ली।

पंजाब कांग्रेस का सवाल, अप्रैल फूल निकला वादा

पंजाब कांग्रेस प्रधान अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने कहा कि केजरीवाल जी का एक अप्रैल वाला वादा अप्रैल फूल निकला। कोई मुआवज़ा नहीं मिला। AAP का कोई MLA या मंत्री किसानों की सुध लेने नहीं गया। मान साहब भी चुप हैं। उन्होंने इसे आप की किसान विरोधी क्रोनोलॉजी बताते हुए कहा कि AAP सरकार के एक महीने में 14 किसानों ने ख़ुदकुशी की।

Leave a Comment