संगरूर सीट से AAP ने उतारा उम्मीदवार, आप के लिए जीत हासिल करना इसलिए है ज़रूरी

The News Air: संगरूर लोकसभा सीट के लिए आम आदमी पार्टी ने गुरमेल सिंह के नाम की घोषणा कर दी है। इस वक़्त वह पार्टी के संगरूर ज़िले के इंचार्ज हैं। यह सीट सीएम भगवंत मान के इस्तीफ़े के बाद ख़ाली हुई थी। मान ने विधायक चुने जाने और पार्टी को बहुमत मिलने के बाद सीट छोड़ दी थी। इस सीट पर सीएम मान की बहन मनप्रीत कौर भी दावेदारी जता रही थी। उनके पोस्टर तक लग गए थे। इसके बावज़ूद उन्हें टिकट नहीं मिली। इसके अलावा भगवंत मान के दोस्त कॉमेडियन कर्मजीत अनमोल और एक IPS अफ़सर का नाम भी चर्चा में था।
कांग्रेस ने अभी तक कैंडिडेट की घोषणा नहीं की है। वह यहां से पूर्व मंत्री विजय इंद्र सिंगला या भगवंत मान से विस चुनाव हारे दलवीर गोल्डी पर दांव खेल सकते हैं। वहीं भाजपा वहाँ से पूर्व सांसद सुखदेव ढींडसा के बेटे परमिंदर ढींडसा पर दांव खेलने की तैयारी में है। शिरोमणि अकाली दल अमृतसर के प्रधान सिमरनजीत सिंह मान भी यहां से चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुके हैं। शिरोमणि अकाली दल (बादल) ने अभी उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है।

मान का गढ़ संगरूर सीट, मोदी लहर में भी जीते

संगरूर लोकसभा सीट भगवंत मान का गढ़ है। यहां से वह लगातार बड़े अंतर से जीते। 2019 में मोदी (PM नरेंद्र मोदी) लहर में जब आप के सब कैंडिडेट हार गए तो मान अकेले ही संगरूर से जीतकर संसद पहुंचे थे। इस बार विधायक चुने जाने और पार्टी को बहुमत के बाद उन्होंने सीट से इस्तीफ़ा दे दिया।

आप के लिए इसलिए ज़रूरी जीत

  • संगरूर से आप का देश भर से भगवंत मान इकलौते लोकसभा सांसद थे। हार गए तो फिर लोकसभा में प्रतिनिधित्व ख़त्म हो जाएगा।
  • मान सरकार बने ढाई महीने हुए हैं। सीट हार गए तो उनकी राज्य में सरकार के कामकाज पर सवाल उठेंगे। जीते तो इसे मुहर बताएंगे।
  • आप गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विस चुनाव लड़ रही है। यहां हारे तो विरोधी इसे भुनाएंगे।

Leave a Comment