पंजाब की VIP सिक्योरिटी मुद्दे में मोदी सरकार ने की एंट्री

The News Air: पंजाब में VIP सिक्योरिटी मुद्दे को लेकर चले बवाल में शुक्रवार केंद्र सरकार की एंट्री हो गई है। केंद्र सरकार ने शुक्रवार को श्री अकाल तख़्त साहिब के जत्थेदार को Z सिक्योरिटी देने की घोषणा कर दी है। हालांकि आदेश अभी श्री अकाल तख़्त साहिब तक नहीं पहुंचे हैं, लेकिन भाजपा के सिख नेताओं ने पोस्ट करके इसकी पुष्टि की है।
गौरतलब है कि बीते दिनों मुख्यमंत्री भगवंत मान की सरकार ने VIPs की सुरक्षा को कम कर दिया था। उन्होंने श्री अकाल तख़्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह की सुरक्षा को भी आधा कर दिया था। ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने प्रतिक्रिया देते हुए अपनी पूरी सिक्योरिटी वापस करने की घोषणा कर दी थी। सिख जगत में इसका विरोध हुआ और शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने भी इस पर ऐतराज़ जताया। SGPC ने अपनी टॉस्क फोर्स में से 10 सुरक्षा कर्मियों को जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह के साथ लगा दिया।

वापस दी सिक्योरिटी को भी जत्थेदार ने किया मना

वहीं, दूसरी तरफ़ पैदा हुए विवाद के बाद मान सरकार ने शाम को ही जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह की सुरक्षा को वापस करने की घोषणा कर दी, लेकिन जत्थेदार ने स्पष्ट कर दिया कि वह पंजाब पुलिस की सुरक्षा अपने पास रखेंगे ही नहीं। उनके सिख काफ़ी हैं और वे उनकी सुरक्षा बेहतर ढंग से कर सकते हैं।

अब केंद्र देगी Z सिक्योरिटी

VIPs को सिक्योरिटी देने के मुद्दे पर पैदा हुए विवाद के बाद शुक्रवार को केंद्र सरकार ने जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह को ‘Z’ सिक्योरिटी देने की घोषणा कर दी है। मनजिंदर सिंह सिरसा और आरपी सिंह ने ट्विटर पर पोस्ट करके इसकी पुष्टि की।
मनजिंदर सिंह सिरसा ने राज्य सरकार पर तंज़ भी कसा है कि VIPs की सुरक्षा सिक्योरिटी सिंबल नहीं होता। जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह सिखों के लिए माननीय हैं। अगर कोई छोटी घटना भी घट जाती है तो इससे पूरे देश में प्रभाव होगा।

Leave a Comment