WFI Row: WFI अध्यक्ष विवाद: पहलवानों के आगे झुकी सरकार! बातचीत के लिए..

नई दिल्ली (The News Air): जहां एक तरफ आज देश की राजधानी नई दिल्ली (Delhi) में लगातार दूसरे दिन भी पहलवानों का प्रदर्शन अपने चरम पर  है। वहीं इस इस बीच अब खेल मंत्रालय ने प्रदर्शनकारी पहलवानों को बातचीत के लिए बुलाया है। इस बाबत आज पहलवान बजरंग पुनिया (Bajrang Punia) ने बताया कि खेल मंत्रालय ने उन्हें बातचीत के लिए बुलाया है।

मध्यस्ता के लिए आई बबीता फोगाट

दरअसल यहां प्रदर्शन कर रहे पहलवान बजरंग पुनिया ने बताया कि, बबीता फोगाट सरकार की तरफ से मध्यस्ता के लिए यहां आई हैं। बबीता फोगाट ने कहा, “सरकार पहलवानों के साथ है। मेरी कोशिश है कि मैं आज ही समाधान करवा दूं। ये कोई छोटी चीज़ नहीं है, धुआं वहीं उठता है जहां आग लगी होती है। मैं भरोसा दिलाती हूं कि मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी।”

वृंदा करात को मंच से उतारा गया 

वहीं इन सबके बीच आज पहलवानों के प्रदर्शन में पहुंची लेफ्ट नेता वृंदा करात को धरना दे रहे पहलवानों ने मंच पर आने से रोक दिया। इतना ही नहीं पहलवानों कि तरफ से वृंदा करात को बोलने के लिए माइक भी नहीं दिया गया । इस दौरान बजरंग पुनिया ने साफ़ कहा कि, यह पहलवानों का प्रदर्शन है, यहां किसी नेता की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है। पहलवान बजरंग पूनिया ने उनको मंच से नीचे जाने के लिए कहते हुए कहा कि, “आप से अनुरोध है कि आप नीचे आ जाइए। माइक किसी को नहीं मिलेगा। आप से अनुरोध है कि इसे राजनीतिक मुद्दा न बनाएं।”

कौन-कौन है प्रदर्शन में 

जानकारी दें कि, इन पहलवानों में ओलंपिक्स, कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का नाम रोशन करने वाले विनेश फोगाट, साक्षी मलिक, बजरंग पुनिया जैसे पहलवान भी शामिल हैं। आज गुरुवार सुबह रेस्लर बजरंग पुनिया ने आरोप लगाया कि कुश्ती अध्यक्ष ब्रजभूषण सिंह विदेश भागने की फिराक में हैं। सरकार को उनपर अब नजर रखनी चाहिए। पहलवानों के आरोपों को लेकर पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, अभी पहलवानों की तरफ से कोई भी लिखित शिकायत नहीं आई है।

क्या है मामला 

गौरतलब है कि, भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) और WFI के अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Singh) के खिलाफ यौन शोषण के आरोप लगाए जाने पर फिलहाल बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और अन्य रेसलर जंतर-मंतर धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। इसके साथ ही ओलंपियन पहलवान विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और बजरंग पुनिया सहित 30 से अधिक पहलवानों ने कुश्ती महासंघ पर शोषण का और बृजभूषण सिंह पर मनमाने तरीके से संघ को चलाने का भी गंभीर आरोप लगाया है। जिस पर जवाब देते हुए बृजभूषण सिंह ने कहा कि अगर यह आरोप अगर सिद्ध हुए तो वो फांसी लगा लेंगे।

 

Leave a Comment