फिर से हुई गुरुद्वारे में बेअदबी, पवित्र ग्रंथों से छेड़छाड़ करते युवक को सेवादारों ने पकड़ा

The News Air – (चंडीगढ़) पंजाब में श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी एक बार फिर की गई है। ताज़ा मामला अमृतसर में अजनाला के गांव भंगुपुर स्थित श्री गुरुद्वारा में सामने आया है। गुरु घर में शाम के समय पवित्र ग्रंथों से छेड़छाड़ करने वाले एक युवक को सेवादारों ने मौक़े पर ही पकड़ लिया। इसके बाद उसे गुरु घर के एक कमरे में बंद कर दिया और सेवादारों ने उससे अपने स्तर पर पूछताछ की।
पुलिस को जब इस घटनाक्रम का पता चला तो वह भी मौक़े पर पहुंच गई। पुलिस ने गुरुद्वारा के प्रबंधकों से युवक को पुलिस के हवाले करने के लिए कहा, लेकिन सिख संगतों ने इसका फ़ैसला ख़ुद करने के लिए कहा। इसके बाद पुलिस ने लगातार प्रबंधकों से बातचीत की और किसी भी तरह से क़ानून को अपने हाथ में न लेने के लिए कहा।
आख़िरकार पुलिस की कोशिश कामयाब हो गई और पुलिस ने युवक को अपनी हिरासत में ले लिया। इससे पहले पुलिस को गुरु घर के कमरे में ही पूछताछ के लिए प्रबंधकों ने कहा था, जिसे मानते हुए पुलिस ने गुरु घर में ही युवक से पूछताछ की, लेकिन पुलिस ने संगतों के रोष को देखते हुए और पिछली बेअदबी की घटनाओं की तरह फ़ैसला आन द स्पॉट होने से बचाने के लिए युवक को अपने साथ ले जाने का दबाव बनाया।
एसएसपी (देहात) सतीश कौशल ने भी इस बात की पुष्टि की है कि भंगुपुर हवेलियां गुरुद्वारा में बेअदबी के आरोप में पकड़े गए युवक को पुलिस ने अपनी हिरासत में ले लिया है। पुलिस युवक से पूछताछ कर रही है। बेअदबी की घटना है या नहीं, इसे लेकर सारे फैक्ट देखे जा रहे हैं। युवक से पूछताछ के साथ-साथ सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली जा रही है।

सेवादारों ने युवक से बरामद किया श्री गुटका साहिब और रूमाले

सेवादारों ने कहा कि उन्होंने युवक को गुरु घर में ही पकड़ लिया था। उसके पास से उन्होंने श्री गुटका साहिब और रूमाले बरामद किए। इसके बाद उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि वह दिल्ली से आया है। सीसीटीवी फुटेज में भी दिख रहा है कि शख़्स ने पालकी साहिब से श्री गुरु ग्रंथ साहिब के स्वरूप को उठाकर मेज़ पर रख दिया। युवक गुरु घर के सचखंड में जाकर श्री गुटका साहिब को उठाकर अपनी ज़ेब में रखता है। भागने से पहले वह रूमाला साहिब की जोड़ी भी उठाकर अपनी ज़ेब में डालता है।

नशेड़ी लगता है पकड़ा गया युवक

गांव भंगुपुर हवेलियां के गुरु घर में बेअदबी करता सीसीटीवी में क़ैद हुआ युवक, जिसे सेवादारों ने मौक़े पर ही पकड़ लिया, नशे का आदी लगता है। ख़ुद सेवादारों ने ही बताया कि जब उसे पकड़ा तो उसने ज़ेब से निकाल कर कैप्सूल खा लिए। नशा करने के लिए युवक ने कैप्सूल खाए थे।
पुलिस ने भी उसके पास से प्रतिबंधित दवाओं के ख़ाली पत्ते बरामद किए हैं। पुलिस ने अभी तक उसके नशेड़ी होने की पुष्टि तो नहीं की है, लेकिन संभावना जताई है कि जिस तरह से उसने प्रतिबंधित दवाई खाई। इस तरह से अक्सर नशे के आदी लोग करते हैं।

मानसिक रोगी कहकर पल्ला झाड़ लेती है पुलिस

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के प्रधान एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी ने कहा कि श्री गुरु ग्रंथ साहिब और अन्य पवित्र ग्रंथ सिखों के लिए सर्वोच्च हैं। इनके साथ बेअदबी की घटनाएं आस्था को तो चोट पहुंचाती ही हैं। दिलो-दिमाग़ को भी पीड़ा पहुंचाती है। जब पंथ विरोधी काम करने वाले को पकड़ लिया जाता है तो पुलिस उन्हें मानसिक रोगी बताकर छोड़ देती है। उन्होंने भंगुपुर हवेलियां गुरुघर में हुई बेअदबी की घटना की भी कड़ी निंदा की है।
एसजीपीसी ने इस बेअदबी की घटना की जांच के लिए एक कमेटी गठित की है, जिसमें एसजीपीसी के पूर्व सीनियर उप प्रधान सुरजीत सिंह भिट्टेवड्ड और धर्म प्रचार कमेटी के प्रचारक बलकार सिंह शामिल हैं। यह मौक़े पर जाकर मामले की अपने स्तर पर जांच करेंगे।

18 दिसंबर को स्वर्ण मंदिर में हुई थी बेअदबी

बता दें कि इससे पहले गत 18 दिसंबर को ऐतिहासिक श्री हरमंदिर साहिब में बेअदबी की घटना हुई थी। तारीख़ 18 दिसंबर 2021, अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में आम दिनों की ही तरह भीड़ थी। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (SGPC) के सेवादार आने-जाने वालों पर नज़र रखे हुए थे। शाम 5 बजकर 45 मिनट का वक़्त रहा होगा। एक युवक जाली फांदकर मंदिर के सबसे पवित्र स्थान में घुस गया। पलक झपकते ही सेवादारों ने उसे पकड़ लिया। ये सब महज़ 8 सेकेंड के भीतर हुआ।
बाद में उस युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। मृतक का अंतिम संस्कार कर दिया गया है, लेकिन अभी तक उसकी शिनाख्त नहीं हो पाई है। न उसका नाम पता चला पाया और न ही यह पता लगा कि वह कहां से आया और उसका परिवार कौन है? उसका कोई वारिस भी सामने नहीं आया है। उसका बायोमीट्रिक रिकॉर्ड भी नहीं मिला है।

कपूरथला के निजामपुर में भी हुई थी बेअदबी

स्वर्ण मंदिर में बेअदबी के अगले दिन कपूरथला के निजामपुर में गुरुद्वारा साहिब में निशान साहिब की बेअदबी का मामला सामने आया था। इस मामले में भी आरोपी युवक को भीड़ ने पुलिस की मौजूदगी में पीट-पीटकर मार दिया था। हत्या के लिए गुरुद्वारे से अनाउंसमेंट की गई थी कि सब शस्त्र लेकर आ जाएं। इसके बाद भीड़ ने अंदर घुसकर वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर अपने साथ ले जाने की कोशिश की, लेकिन भीड़ से पुलिस का टकराव हो गया। इसके बाद पुलिस ने हवाई फायरिंग की।
इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों में जमकर धक्कामुक्की भी हुई। पुलिस ने आरोपी पर क़ानूनी कार्रवाई का भरोसा दिया, लेकिन भीड़ ने एक न सुनी और आरोपी युवक की हत्या कर दी। युवक की पहचान करने के लिए एक महिला सामने आई थी, जिसने उसे अपना भाई बताया था।

Leave a Comment