मोदी सरकार महंगाई से निपटने में नाकाम, जनता का पैसा विपक्षी पार्टियों की सरकार गिराने पर कर रही है खर्च : आप

चंडीगढ़, 30 अगस्त

बढ़ती महंगाई को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी सरकार महंगाई से देश की जनता को राहत पहुंचाने के बजाए विपक्षी पार्टियों की राज्य सरकारों को गिराने पर जनता के टैक्स का अरबों रुपये खर्च कर रही है।

मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ‘आप’ पंजाब के मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कंग ने कहा कि मोदी सरकार महंगाई पर काबू पाने में पूरी तरह से फेल साबित हुई है। 2014 में केन्द्र में भाजपा की सरकार बनने से पहले पेट्रोल करीब 60 रूपया और डीजल 55 रुपये था। आज डीजल 90 रूपए और पेट्रोल 110 रुपए के करीब है।

दिल्ली की घटना पर कंग ने कहा कि भाजपा का ‘ऑपरेशन लोटस’ दिल्ली में फेल हो गया है। ‘आप’ के कई विधायकों को 20-20 करोड़ रुपये की पेशकश भी की गई थी, लेकिन आप विधायकों को वे खरीद नहीं सके। उन्होंने कहा कि 2014 में नरेंद्र मोदी के देश के प्रधानमंत्री बनने के बाद से बीजेपी ने 8 राज्यों में सरकार गिरा दी और इस काम पर अभी तक लगभग 6,300 करोड़ रुपये खर्च किए है। भाजपा ने महाराष्ट्र, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मध्यप्रदेश, कर्नाटक और गोवा में विपक्षी पार्टियों को सत्ता से बेदखल कर दिया। अब उसकी निगाह झारखंड पर है।

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से गुजरात के मुंद्रा पोर्ट से 22000 करोड़ रुपये से ज्यादा के ड्रग्स जब्त हुए और अवैध शराब के कारण सैकड़ों लोगों की जान चली गई, लेकिन आज तक इसकी कोई जांच नहीं हुई। पीएम मोदी का मकसद नशा खत्म करना नहीं हैं उनका मकसद केवल विपक्षी पार्टियों की सरकार गिराना है।

शिअद अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल से सवाल करते हुए कंग ने कहा कि अगर वह ईमानदार हैं तो कोटकपुरा गोलीकांड की घटना में एसआईटी के सामने पेश क्यों नहीं हो रहे हैं। जांच से भाग क्यों रहे हैं।

उन्होंने कहा कि श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी मामले में डेरा सच्चा सौदा की संलिप्तता सभी जानते हैं लेकिन बादल परिवार ने उन्हें क्लीन चिट दे दी, जिसके कारण सिख संगत सात साल से न्याय का इंतजार कर रही है, लेकिन अब ‘आप’ सरकार बेअदबी और गोलीकांड की घटनाओं में संगत को न्याय दिलाएगी। इस मामले के सभी दोषी अब पकड़े जाएंगे।

Leave a Comment