हरीश रावत ने दिए संकेत 2022 में अमरिंदर ही होंगे कांग्रेस के ‘कैप्टन’

देहरादून , 25 अगस्त (The News Air)
पंजाब के कैबिनेट मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा और कुछ अन्य नेताओं द्वारा खुले तौर पर कैप्टन को हटाए जाने की मांग उठाए जाने के बाद एक बार फिर पंजाब की राजनीति में भूचाल आ गया है। वहीं मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के ख़िलाफ़ बग़ावत के सुर के बीच प्रभारी हरीश रावत ने अहम संकेत दिए हैं। हरीश रावत का कहना है कि कांग्रेस पार्टी 2022 में भी कैप्टन अमरिंदर सिंह की अगुवाई में चुनाव लड़ेगी।  
पंजाब कांग्रेस में जारी दंगल के बीच बुधवार को पार्टी के पांच बड़े नेता उत्तराखंड के देहरादून में हरीश रावत से मुलाक़ात करने पहुंचे थे। इसी मुलाक़ात के दौरान हरीश रावत की ओर से साफ़ संकेत दिए गए हैं कि नेताओं द्वारा कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाने की जो मांग की जा रही है, वह पूरी नहीं होगी और पार्टी उनकी अगुवाई में ही 2022 का चुनाव लड़ेगी।
कांग्रेस नेता परगट सिंह, कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर रंधावा, तृप्त राजेंद्र सिंह, चरणजीत सिंह, सुखविंदर ने बुधवार को देहरादून में हरीश रावत से मुलाक़ात की। इसके बाद ये सभी नेता नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मिल सकते हैं। 
कांग्रेस नेता परगट सिंह का कहना है कि विधायकों के कई मुद्दों का निष्कर्ष अभी नहीं निकला है, ऐसे में विधायकों में नाराज़गी है। ऐसे में वह कांग्रेस हाईकमान से अपील करेंगे कि मुख्यमंत्री को सभी विधायकों की बैठक बुलानी चाहिए और मुद्दों को सुलझाना चाहिए।
गौरतलब है कि पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी के भीतर ही ज़ंग चल रही है। पहले नवजोत सिंह सिद्धू को अध्यक्ष बनाने को लेकर संकट था, अब बीते दिनों ही पंजाब कांग्रेस के कई विधायकों, नेताओं ने मांग कर दी है कि चुनाव से पहले मुख्यमंत्री बदला जाना चाहिए। 
बता दें कि इससे पहले नवजोत सिंह सिद्धू के पंजाब कांग्रेस का प्रधान बनने के बाद यह माना जा रहा था कि पार्टी के सभी अंदरूनी विवाद शांत हो जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू खेमे के बीच चिंगारी और भड़क गई है।

Leave a Comment