सासंद खेर ‘The kashmir Files’ के ट्वीट से निशाने पर: कांग्रेस और आप ने घेरा; कहा..

The News Air- चंडीगढ़ की सांसद किरण खेर एक बार फिर से ट्रोल हो रहीं हैं। मुंबई से उन्होंने अपने एक्टर पति अभिनीत फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ के डायरेक्टर, अपने पति अनुपम खेर और पूरी टीम को बधाई दी। इस पर चंडीगढ़ महिला कांग्रेस प्रधान दीपा अस्धीर दुबे ने ट्वीट किया है कि मैडम (किरण खेर) को शहर से कोई मतलब नहीं है। वह फिल्म प्रमोशन में व्यस्त हैं। इससे पहले शहरवासी जब बिजली संकट से जूझ रहे थे उस समय भी सांसद ट्रॉल हुई थी।

वर्ष 2014 से चंडीगढ़ की सांसद हैं मगर शहर में कम और मुंबई में ही ज्यादा रही हैं। कैंसर से ठीक होने के बाद वह फिर से मनोरंजन की दुनिया में चली गई। चंडीगढ़ के निवासी और कर्मचारी अपनी समस्याओं को लेकर प्रशासन ने अकेले ही लड़ रहे हैं। चुनावों के दौरान किरण खेर के किए वायदे सब हवा हैं। इससे किरण खेर की सांसद के रूप में छवि धूमिल भी हुई है।

महिला कांग्रेस प्रधान दीपा दुबे ने सांसद के ट्वीट पर यह लिखा है।

महिला कांग्रेस प्रधान दीपा दुबे ने सांसद के ट्वीट पर यह लिखा है।

महिला कांग्रेस प्रधान दुबे ने कहा है कि किरण खेर को शहरवासियों से कोई मतलब नहीं है जो बिजली निजीकरण, वॉटर टैरिफ, पेड पार्किंग की समस्याओं से त्रस्त हैं। उन्होंने कहा है कि अन्य सांसद शहर की समस्याओं को सदन में उठा रहे हैं। बिजली निजीकरण इसका उदाहरण है। दुबे ने किरण खेर को नसीहत दी है कि कभी-कभी शहर की तरफ झांक लिया करें।

जब काम नहीं करने तो सांसद की सैलरी किस नाम की?

नगर निगम में आप के पार्षद और नेता प्रतिपक्ष योगेश ढिंगरा ने कहा है खेर ने अगर शहर के काम ही नहीं करने तो वह सैलरी किस नाम की ले रही हैं। जब किरण खेर को निगम चुनावों में पार्टी को जीत दिलानी होती है तो वह शहर आती हैं। शहर के लोगों को उनकी ज़रूरत हो तो वह बीमार होती हैं। अब ठीक हो गई थी तो शहर को देखना चाहिए था। वह टीवी शो में व्यस्त हैं। उनके इसी एटिट्यूड के चलते शहर के लोग उन्हें अब 2024 के लोकसभा चुनावों में सबक सिखाएगें।

चंडीगढ़ यूथ कांग्रेस के राज्य महासचिव विनायक बांगिया ने ट्वीट किया है कि मैडम को शहर से कोई मतलब नहीं है। वह फिल्म की प्रमोशन में व्यस्त हैं। उन्हें शहरवासियों से कोई मतलब नहीं है। शहर तमाम टैक्सों, बिजली के निजीकरण, पेड पार्किंग और वॉटर टैरिफ की समस्या से जूझ रहा है।

यूथ कांग्रेस के नेता ने भी खेर को निशाने पर लिया है।

यूथ कांग्रेस के नेता ने भी खेर को निशाने पर लिया है।

किरण खेर के चंडीगढ़ की स्थानीय समस्याओं पर सजगता न दिखाने के मुद्दे पर भाजपा नेता भी खुल कर बताने में हिचकते हैं। 2024 में फिर से लोकसभा के चुनाव हैं। ऐसे में उम्मीद है कि अगले साल के मध्य तक सांसद कुछ समय के लिए चंडीगढ़ आकर रह सकती हैं।

यह है खेर की कमाई

जानकारी के मुताबिक India’s Got Talent के सीजन में किरण खेर 2 से 3 करोड़ रुपए कमाती हैं। वह कई सालों से इस शो का हिस्सा रही हैं। पिछले साल ही वह कैंसर से रिकवर हुई थी। जिसके बाद शूटिंग में व्यस्त हो गई। इस शो के अलावा उनकी और कमाई भी है। वहीं सांसद के रुप में भी वह काफी कमाती हैं।

कोरोना में वित्तीय हालातों को ध्यान में रखते हुए सांसदों और मंत्रियों की सैलरी पर ‘कट’ लगाया गया था। ऐसे में सितंबर, 2020 में सैलरीज़ एंड अलांउस ऑफ मिनिस्टर्स (एमेंडमेंट) बिल लाया गया। सांसदों की सैलरी में 30 प्रतिशत का कट लगाया गया था। पहले यह 1 लाख रुपए महीना थी और अब कम होकर 70 हजार है। वहीं सांसदों के लिए भत्ते और पेंशन की सुविधा भी हैं।

Leave a Comment