कैप्टन अमरिंदर ने कहा अब नहीं रहूंगा कांग्रेस में, कांग्रेस के ख़िलाफ़ करूंगा प्रचार

चंडीगढ़, 30 सितंबर (The News Air)
पंजाब (Punjab) का सियासी पारा चढ़ता ही जा रहा है। विधानसभा चुनाव में चार महीने ही बचे हैं, लेकिन कांग्रेस में मची कलह थमने का नाम नहीं ले रही। अमरिंदर सिंह (Captain amarinder Singh) ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा है कि अभी तक में कांग्रेस में था, लेकिन अब नहीं रहूंगा। क्योंकि मेरे साथ पार्टी से जिस तरह से व्यवहार किया है उससे मैं बहुत दुखी हूं।

कांग्रेस के ख़िलाफ़ करेंगे प्रचार-दरअसल,18 सितंबर को पंजाब कांग्रेस के सीएम पद से इस्तीफ़ा दिया था। तभी से क़ायस लगने लगे थे कि अब कैप्टन जल्द ही कांग्रेस को छोड़ने वाले हैं। अब उन्होंने साफ़ तौर पर कह दिया है कि अभी तक मैं कांग्रेस पार्टी का हिस्सा था, लेकिन आगे नहीं रहूंगा। जल्द ही कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफ़ा देने वाला हूं। इतना ही नहीं उन्होंने यहां तक कहा कि वह पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के ख़िलाफ़ प्रचार करेंगे।

बीजेपी में जाने की अटकलों को किया खारिज-वहीं अमरिंदर ने कांग्रेस छोड़ने के साथ ही उन्होंने बीजेपी में शामिल होने की सभी अटकलों को भी खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी ज्वॉइन नहीं कर रहा हूं। कल बुधवार को जब कैप्टन ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाक़ात की थी तो राजनीतिक गलियारों में चर्चा होने लगी थी कि वह बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। लेकिन एक दिन बाद ही उन्होंने सब क्लियर कर दिया।

अपने ट्विटर बायो से हटाया कांग्रेस-इतना ही नहीं पंजाब में कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपना ट्विटर बायो भी बदल लिया है। उन्होंने कांग्रेस हटाकर, सेना के करियर, पंजाब का पूर्व मुख्यमंत्री और राज्य की सेवा में लगातार करता रहूंगा यह लिखा हुआ है।

Capture 5

कांग्रेस छोड़ने की बताई वजह-चैनल से बातचीत के दौरान कैप्टन ने कहा कि जिस तरह से मेरे साथ साज़िश की गई यह ग़लत है। मुझे मुझे बिना बताए गुप्त तरीक़े से विधायकों की मीटिंग बुलाई गई, इससे मैं बहुत ही दुखी और अपने आप को अपमानित महसूस कर रहा हूं। जब किसी को अगर मुझ पर यक़ीन नहीं तो उस पार्टी में रहने का क्या फ़ायदा।

नई पार्टी लॉन्च कर सकते हैं कैप्टन-कैप्टन के कांग्रेस छोड़ने और बीजेपी में नहीं जाने पर यही चर्चा है कि वह पंजाब चुनाव से पहले अपनी नई पार्टी लॉन्च कर सकते हैं। अपने नए संगठन की घोषणा 2 अक्टूबर यानि गांधी जयंती पर कर सकते हैं। क्योंकि उन्होंने बातचीत में कहा कि भले ही में अभी पंजाब का मुख्यमंत्री नहीं हूं, लेकिन पंजाब अभी भी मेरा है। साथ कहा कि कांग्रेस का ग्राफ़ नीचे जा रहा है और आम आदमी पार्टी पंजाब में बढ़ रही है। इस बार का चुनाव पंजाब में सबसे अलग होगा।

Leave a Comment