Bihar Caste Census: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की जातीय जनगणना के खिलाफ..

नई दिल्ली (The News Air): सुप्रीम कोर्ट ने बिहार में हो रही जाति आधारित जनगणना के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया है। साथ ही  कोर्ट ने  याचिकाकर्ता से यह भी कहा कि वह चाहे तो हाईकोर्ट में याचिका दायर कर सकता है। सुनवाई के दौरान जस्टिस बीआर गवई और न्यायमूर्ति विक्रम नाथ के बेच ने कहा कि, याचिकाओं में कोई दम नहीं है, लिहाजा इन्हें खारिज किया जाता है। हालांकि, बेंच ने याचिकाकर्ता से कहा कि, वह चाहे तो संबंधित उच्च न्यायालय का रुख कर सकते हैं।

सुप्रीम कोर्ट के सुनवाई के बाद बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि, सुप्रीम कोर्ट ने हमारे पक्ष में फैसला दिया है, यह सबके हित में है। जाति आधारित जनगणना केंद्र सरकार का काम है, हम प्रदेश में कर रहे हैं। अगर हमें हर चीज की जानकारी होगी तो लोगों का विकास आसान होगा।  

यह लोकप्रियता हासिल करने के इरादे से दाखिल याचिका: SC 

दो जजों की बेंच ने याचिकाकर्ता के वकील से कहा कि तो यह लोकप्रियता हासिल करने के इरादे से दाखिल याचिका है। हम कैसे यह निर्देश जारी कर सकते हैं कि किस जाति को कितना आरक्षण दिया जाना चाहिए। माफ कीजिए, हम ऐसे निर्देश जारी नहीं कर सकते और इन याचिकाओं पर सुनवाई नहीं कर सकते।

Leave a Comment