CM मान से पहले प्रकाश सिंह बादल का बड़ा ऐलान: 5 बार पंजाब के सीएम रह चुके; सरकार को भेजेंगे पत्र

The News Air – पंजाब के मौजूदा CM भगवंत मान के ऐतिहासिक ऐलान से पहले ही पूर्व CM प्रकाश सिंह बादल ने पूर्व विधायक की पेंशन छोड़ने की घोषणा कर दी। वह 5 बार पंजाब के सीएम रहे हैं। उन्हें पेंशन के तौर पर करीब 5 लाख रुपए मिलने की चर्चाएं हुई थी। हालांकि कभी अधिकारिक तौर पर किसी ने इसे स्वीकार नहीं किया। वह 10 विधानसभा चुनाव जीते। हालांकि इस बार वह चुनाव हार गए।

WEFf

प्रकाश सिंह बादल के हवाले से अकाली दल ने यह ट्वीट किया गया है। जिसमें कहा गया कि वह पंजाब सरकार और स्पीकर से गुजारिश करते हैं कि उन्हें पूर्व विधायक के तौर पर जो भी पेंशन या भत्ते मिलते हैं, वह न दिए जाएं। इसकी जगह उसका पंजाब के हित के लिए इस्तेमाल किया जाए। उन्होंने कहा कि इस बारे में वह औपचारिक पत्र भी सरकार को भेज रहे हैं।

आप नेता हरपाल चीमा ने भी विधायकों के साथ एक विधायक-एक पेंशन के लिए तत्कालीन स्पीकर राणा केपी को मांग पत्र सौंपा था
आप नेता हरपाल चीमा ने भी विधायकों के साथ एक विधायक-एक पेंशन के लिए तत्कालीन स्पीकर राणा केपी को मांग पत्र सौंपा था

कांग्रेस सरकार में उठा था मामला
पंजाब की पिछली कांग्रेस सरकार में इन्कम टैक्स का मुद्दा उठा था। जिसमें RTI के जरिए पता चला कि प्रकाश सिंह बादल और नवजोत सिद्धू समेत 93 विधायकों का इंकम टैक्स पंजाब सरकार भर रही है। 4 साल में कैप्टन अमरिंदर सिंह की अगुवाई वाली सरकार ने पौने 3 लाख करोड़ का इंकम टैक्स भरा। उस वक्त यह मुद्दा उठा था कि सिर्फ इंकम टैक्स ही नहीं बल्कि कई विधायक बार-बार चुने जाने की वजह से एक से ज्यादा पेंशन ले रहे हैं। जिसमें सबसे पहला नाम प्रकाश सिंह बादल का था।

तब AAP के विपक्षी दल के नेता चीमा मिले थे स्पीकर से
उस वक्त पंजाब विधानसभा में आम आदमी पार्टी के विपक्षी दल नेता हरपाल चीमा स्पीकर से मिले थे। जिसमें कहा गया कि एक विधायक को एक ही पेंशन मिले, चाहे वह कितनी ही बार चुना गया हो। उन्होंने तत्कालीन स्पीकर राणा केपी को इसका पत्र भी सौंपा था। अब पंजाब में आम आदमी पार्टी की ही सरकार है। इसलिए यह भी चर्चा हो रही है कि कहीं भगवंत मान इस बार में कोई बड़ा ऐलान न कर दें।

Leave a Comment