पंजाब में आदित्य बिरला ग्रुप करोड़ों का निवेश कर अत्याधुनिक पेंट यूनिट व सीमेंट प्लांट करेगी स्थापित


चंडीगढ़, 23 जुलाई (The News Air)

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज आदित्य बिरला ग्रुप द्वारा पेंट इंडस्ट्री में पैर रखते हुए राज्य में पेंट यूनिट के स्थापन के लिए 1000 करोड़ रुपए का एक बड़ा निवेश करने और राजपुरा में 500 करोड़ रुपए की लागत से सीमेंट का यूनिट स्थापित करने के लिए ग्रुप का स्वागत किया है।

लुधियाना में हाल ही में विकसित की हाई-टेक वैली में 147 करोड़ की कीमत वाले 61 एकड़ ज़मीन के लिए आवंटन पत्र सौंपते समय विचार पेश करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस निवेश से राज्य में औद्योगिक गतिविधियों को बड़ा प्रोत्साहन मिलेगा। उन्होंने कहा कि पंजाब ने संभावित उद्यमियों और उद्योगपतियों को अनुकूल माहौल देने की पेशकश की है क्योंकि राज्य में शांतमयी कामगार, बेहतर सड़कें, रेल और हवाई संपर्क के रूप में ठोस बुनियादी ढांचा मौजूद है। उन्होंने यह भी कहा कि पंजाब ने मुल्क में लॉजिस्टिक को आसान बनाने में दूसरा रैंक हासिल किया है और राज्य पूर्वी और पश्चिमी फ्रेट कॉरिडोर के साथ जुड़ जायेगा।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि निवेश समर्थकीय औद्योगिक नीति और आकर्षित रियायतों स्वरूप पंजाब मुल्क में निवेश के लिए सबसे पसंदीदा राज्य बनकर उभरा है क्योंकि ‘निवेश पंजाब’ के तौर पर वन स्टॉप शॉप के साथ बीते चार सालों के दौरान प्राप्त हुए 2900 से अधिक प्रोजेक्टों के प्रस्तावों के द्वारा 91,000 करोड़ रुपए के व्यापक निवेश में बेरोक सुविधा मुहैया करवाई है। इन व्यापक निवेशों में से 50 प्रतिशत प्रोजैक्ट व्यापारिक उत्पादन शुरू कर चुके हैं और कोविड-19 महामारी के चरम दौरान भी राज्य ऐसा निवेश लाने के समर्थ रहा है। उन्होंने रोज़गार सृजन की व्यापक योजना का भी ज़िक्र किया जिसके द्वारा 17.63 लाख नौजवानों को सरकारी, निजी और स्वरोज़गार के लिए मौके प्रदान करने में सुविधा मुहैया करवाई।

मुख्यमंत्री ने इस बड़े निवेश को सरकार द्वारा हाल ही में नीति, प्रक्रिया और कारोबार के सुधारों के लिए उठाए गए सिलसिलेवार कदमों का परिणाम बताया।

मुख्यमंत्री का धन्यवाद करते हुए आदित्य बिरला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिरला जो मुम्बई से वर्चुअल तौर पर मीटिंग में शामिल हुए, ने पंजाब की औद्योगिक वातावरण प्रणाली में भरोसा प्रकट किया और औद्योगिक नीतियों और हस्तक्षेप रहित मंजूरियों की आशा अभिव्यक्ति। उन्होंने राज्य में निवेश लाने के लिए पंजाब सरकार द्वारा दिखाई तेज़ी की प्रशंसा करते हुए हर कदम पर सहयोग देने के लिए प्रशंसा की।

बिरला ने मुख्यमंत्री को अवगत करवाया कि स्थापित होने वाले पेंट मैनुफ़ेक्चरिंग यूनिट से 600 से अधिक व्यक्तियों के लिए रोज़गार के प्रत्यक्ष मौके और कार्यशील होने पर रोज़गार के अप्रत्यक्ष तौर पर 1500 मौके पैदा होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि इस प्लांट में ज़ीरो लिकुअड डिसचार्ज होने पर वातावरण पक्ष से सुरक्षित होगा। भविष्य में ऐसे और प्रोजेक्टों की स्थापित के लिए निरंतर सहयोग की उम्मीद रखते हुए  बिरला ने कहा कि पंजाब अब उनकी प्राथमिक सूची में है।

इस दौरान उनके बेटे आर्यमन बिरला ने भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा सम्मिलन किया जबकि  हिमांशू कपानिया, गैर-कार्यकारी डायरैक्टर और वाइस चेयरमैन, आदित्या बिरला फैशन एंड रिटेल लिमटिड और डायरैक्टर टेलीकाम का नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडल ने निजी तौर पर मुख्यमंत्री से अलाटमैंट पत्र प्राप्त किया।

ज़िक्रयोग्य है कि यह बड़ी निर्माण यूनिट इस क्षेत्र में पैकिंग इंडस्ट्री, टीन और प्लास्टिक केन निर्माण और गतिशीलता आदि से जुड़े सैक्टरों की वेल्यु-चेन को भी बढ़ावा देगा। जल्द बनाऐ जा रहे आदित्या बिरला के इस प्लांट में आधुनिक निर्माण टेक्नोलोजी को इस्तेमाल किया जायेगा। प्लांट को डीसीएस /पीएलसी की आधुनिक तकनीक के द्वारा नियंत्रित किया जायेगा। प्लांट के अंदर कच्चे माल, उत्पादन सामग्री और तैयार माल के गोदामों के प्रबंधन के लिए स्वै-चलित मशीनों को तैनात किया जायेगा। यह प्लांट अपने निर्माण कामों में उद्योग 4.0 आधारित उपकरण और इन्टरनेट आफ थिंगज़ (आई.ओ.टी.) भी लगाएगा।

विचार-विमर्श में हिस्सा लेते हुये सीईओ इनवैस्ट पंजाब रजत अग्रवाल ने कहा कि राज्य की निवेश प्रोत्साहन एजेंसी ’इनवैस्ट पंजाब’ को हाल ही में भारत सरकार की तरफ से ’टाप परफॉर्मर एजेंसी’ का दर्जा दिया गया है। लुधियाना की हाई -टेक वैली इस क्षेत्र में नये निवेशें को आकर्षित करने के लिए अहम भूमिका निभा रही है। रिकार्ड समय में विकसित की उच्च स्तरीय ’प्लग एंड प्ले’ आधारित बुनियादी ढांचे ने औद्योगिक इकाईयों को राज्य की औद्योगिक राजधानी में अपने कामकाज को जल्द शुरू करने का विकल्प दिया है। उन्होंने आगे कहा कि हीरो साइकिल लिमटिड ने पहले ही वैली में अपना मुख्य यूनिट स्थापित किया है जो प्रति यूनिट प्रति साल 4 मिलियन साइकिलें ख़ास कर ई -बाइक और प्रीमियम बाइक के उत्पादन का सामर्थ्य रखता है। बहुत से नये निवेशकों ने इस विकसित औद्योगिक पार्क में निवेश करने के लिए रूचि दिखाई है। अग्रवाल ने आगे कहा कि आदित्या बिरला ग्रुप भी जल्द से जल्द अपने प्रस्तावित प्लांट के निर्माण को शुरू करने की उम्मीद कर रहा है।

काबिलेगौर है कि आदित्या बिरला समूह विश्व स्तर पर 500 कंपनियों का एक संगठन है जिसने अपनी प्रमुख कंपनी ग्रैसीम इंडस्ट्रीज लिमटिड के द्वारा अपने आने वाले पेंट कारोबार के उद्यम के लिए उत्तर भारत में से पंजाब को निवेश के लिए चुना है।


Leave a Comment