एलॉन मस्क ने क्यों कहा, ‘अमेरिकी रेगुलेटर की बात नहीं मानता तो 2018 में मेरी कंपनी कंगाल हो जाती’

टेस्ला के बॉस एलॉन मस्क इन दिनों काफी ‘जोश’ में हैं। पहले उन्होंने Twitter में 9.1% हिस्सेदारी ली। फिर जबरन पूरी कंपनी खरीदने का जोर लगा रहे हैं। वह इतने पर भी नहीं रुके हैं। अब एलॉन मस्क के निशाने पर अमेरिकी मार्केट रेगुलेटर SEC ( सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन ) के अधिकारी हैं। गुरुवार को एलॉन मस्क ने कहा, SEC के ‘Bastards’ अधिकारियों ने उनपर फ्रॉड का झूठा आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि अगर वो उन झूठे आरोपों को स्वीकार नहीं करते तो 2018 में उनकी कंपनी Tesla कंगाल हो जाती। अमेरिकी मार्केट रेगुलेटर SEC के मायने भारत में सेबी से लगा सकते हैं।

एलॉन मस्क जिस केस की बात कर रहे हैं वह 2018 में किए उनके विवादित ट्वीट्स को लेकर है। सितंबर 2018 में अमेरिकी मार्केट रेगुलेटर ने टेस्ला के CEO और चेयरमैन एलॉन मस्क के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी कि उन्होंने टेस्ला की हिस्सेदारी खरीदने को लेकर फर्जी और गलतफहमी फैलाने वाले ट्वीट्स किए हैं।

कैसे शुरू हुआ विवाद?

एलॉन मस्क ने 7 अगस्त 2018 को ट्वीट किया था कि वह Tesla के शेयर 420 डॉलर प्रति शेयर पर खरीद सकते हैं। उस वक्त Tesla के शेयर जिस भाव पर थे उससे 420 डॉलर प्रति शेयर का रेट 18% प्रीमियम पर था। एलॉन मस्क ने अपने ट्वीट में ये भी लिख दिया था कि शेयर खरीदने के लिए फंड का इंतजाम हो गया है। और इस पर सिर्फ शेयरहोल्डर्स की वोटिंग बची है। 2018 में एलॉन मस्क एक के बाद एक कई ट्वीट कर रहे थे जिनमें वो दावा कर रहे थे कि वह Tesla में सारी हिस्सेदारी खरीदकर उसे प्राइवेट कंपनी बनाएंगे। किसी कंपनी को प्राइवेट बनाने का मतलब है कि प्रमोटर पब्लिक शेयरहोल्डर्स से सारे शेयर खरीद ले।

एलॉन मस्क के इसी दावे को लेकर अमेरिकी रेगुलेटर ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। अमेरिकी रेगुलेटर SEC का आरोप था कि एलॉन मस्क ने फर्जी और भ्रामक ट्वीट्स किए थे। हकीकत ये थी कि एलॉन मस्क ने Tesla की हिस्सेदारी खरीदने के लिए कोई बातचीत नहीं की थी। रेगुलेटर का आरोप था कि इस ट्वीट की वजह से 7 अगस्त 2019 को Tesla के शेयरों में 6-7% की तेजी आई थी।

तब जांच के दौरान SEC के एनफोर्समेंट डिवीजन की को-डायरेक्टर स्टेफनी एवाकिन (Stephanie Avakian) ने कहा था, “किसी कंपनी के CEO की तरफ से हमेशा पुख्ता जानकारी मिलनी चाहिए।” इसी मामले में एलॉन मस्क का आरोप है कि अमेरिकी रेगुलेटर ने उनपर फर्जी आरोप लगाए थे।

आइए 2018 के उन ट्वीट्स पर नजर डालते हैं जिनसे यह पूरा विवाद शुरू हुआ था।

इस मामले में एलॉन मस्क ने अमेरिकी रेगुलेटर के साथ सेटलमेंट कर लिया। इस सेटलमेंट के तहत एलॉन मस्क ने अमेरिकी रेगुलेटर SEC के आरोपों को ना तो माना और ना ही खारिज किया।

जिन शर्तों पर यह सेटलमेंट हुआ था वो ये थे।

एलॉन मस्क टेस्ला के चेयरमैन का पद छोडे़ंगे। उनकी जगह कोई इंडिपेंडेंट चेयरमैन नियुक्त किया जाएगा। एलॉन मस्क अगले तीन साल तक चेयरमैन पद के लिए नहीं चुने सा कते हैं।

टेस्ला अपने बोर्ड में दो नए इंडिपेंडेंट डायरेक्टर्स की नियुक्ति करेगी।

टेस्ला नए इंडिपेंडेंट डायरेक्टर्स की एक कमिटी बनाएगी। इस कमिटी का काम एलॉन मस्क के कम्युनिकेशंस यानी ट्वीट्स, मेसेज, पोस्ट और बातचीत पर नजर रखना है।

इसके साथ ही एलॉन मस्क और टेस्ला को 2-2 करोड़ डॉलर की पेनाल्टी चुकानी पड़ी थी। इस रकम से निवेशकों को हुए नुकसान की भरपाई करनी थी।

Source

Leave a Comment