VIDEO- सुखबीर बादल अपनी पूरी सैना सहित मुख्यमंत्री कैप्टन के आवास का घेराव करने पहुंचे, पुलिस ने बादल समेत प्रमुख नेताओं को लिया हिरासत में

चंडीगढ़, 15 जून

पंजाब के सेहत मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू के इस्तीफ़े की मांग को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के सिसवां स्थित फॉर्महाउस का घेराव करने पहुंचे अकाली और बसपा नेताओं व वर्करों के बीच आज धक्कामुक्की और कशमकश व ‘वाटर कैननज़’ का प्रयोग करने के बाद पुलिस ने शिरोमणी अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल, पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया और बसपा पंजाब के प्रधान जसवीर सिंह गढ़ी समेत कई नेताओं को हिरासत में ले लिया।

बसपा के साथ समझौते के बाद शिरोमणी अकाली दल की ओर से बनाया गया यह पहला बड़ा प्रोग्राम था जो लगभग एक रैली का रूप धारण कर गया। शिरोमणी अकाली दल की ओर से बाकायदा एक स्टेज लगा कर भाषण किए गए, जिसके बाद दोनों पार्टियों के नेता और वर्कर फार्म हाऊस की ओर बढ़े तो बड़ी संख्या में तैनात पुलिस कर्मियों ने उनको लगाए गए बैरीकेडों तक रोकने की कोशिश की। जिस पर पुलिस और अकाली-बसपा नेताओं और वर्करों के बीच ज़बरदस्त धक्कामुक्की हुई। इस के इलावा पुलिस की ओर से अकाली-बसपा नेताओं और वर्करों पर ‘वाटर कैननज़’ का भी इस्तेमाल किया गया।

आज के घेराव मौके पूर्व मंत्री डा. दलजीत सिंह चीमा, पार्टी के एम.पी. प्रो. प्रेम सिंह चन्दूमाजरा, एन.के. शर्मा, यूथ अकाली दल के प्रधान परमबंस सिंह रोमाना के इलावा कई नेता उपस्थित थे। आज के इस घेराव के लिए अकाली दल, बसपा, यूथ अकाली दल और एस.ओ.आई. के नेता और वर्कर भी पहुंचे हुए थे।

इस मौके मीडिया से बातचीत करते सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि उनको हिरासत में लेने के उपरांत कहां लिजाय जा रहा है, उनको नहीं पता। उन्होंने दोष लगाया कि पुलिस ने सभी कोविड प्रोटोकोल तोड़ दिए हैं। सुखबीर सिंह बादल ने यह भी दावा किया कि बलबीर सिंह सिद्धू का इस्तीफ़ा ही नहीं, बल्कि उनको जेल जाना होगा। प्रमुख नेताओं को हिरासत में लिए जाने के बाद भी अकाली और बसपा वर्कर अभी बैरीकेडों पर डटे हुए थे।

Leave a Comment