क़ाबुल एयरपोर्ट पर हो सकते हैं और भी आतंकी हमले, शहीद सैनिकों के सम्मान में चार दिन झुका रहेगा अमेरिकी झंडा

वाशिंगटन , 27 अगस्त (The News Air)
क़ाबुल में हुए बम धमाके और उसमें 13 अमेरिकी सैनिकों की मौत के बाद अफ़ग़ानिस्तान में अमेरिका फिर से सक्रिय होता दिख रहा है। राष्ट्रपति जो बाइडन ने साफ़ कर दिया है कि तुम्हे हम माफ़ नहीं करेंगे, ढूंढेंगे और सज़ा देंगे। उन्होंने यह भी कहा है कि हमारा मिशन अभी ख़त्म नहीं हुआ है। इस बीच अपने शहीद सैनिकों को सम्मान देने के लिए अमेरिका का राष्ट्रीय ध्वज झुका रहेगा। व्हाइट हाउस से मिली जानकारी के अनुसार अमेरिका का राष्ट्रीय ध्वज 30 अगस्त की शाम तक आधा झुका रहेगा। 

1 14

वहीं इसी बीच अमेरिकन ब्रॉडकास्ट कंपनी (ABC) के मुताबिक़ एयरपोर्ट के नॉर्थ गेट पर कार बम ब्लास्ट का ख़तरा है। ऐसे में क़ाबुल स्थित अमेरिकी दूतावास ने नया अलर्ट जारी किया है। अमेरिकन ब्रॉडकास्ट कंपनी के मुताबिक़ क़ाबुल एयरपोर्ट के नॉर्थ गेट पर काम बम से ब्लास्ट किया जा सकता है। ख़ुफ़िया एजेंसियों से मिली जानकारी के बाद अमेरिका ने क़ाबुल में अपने सैनिकों व नागरिकों को अलर्ट कर दिया है। 
अमेरिकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन ने कहा- ‘गुरुवार को हामिद करज़ई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के अब्बे गेट पर पहला ब्लास्ट हुआ। कुछ ही देर बाद एयरपोर्ट के नज़दीक बैरन होटल के पास दूसरा धमाका हुआ। यहां ब्रिटेन के सैनिक ठहरे हुए थे। एयरपोर्ट के बाहर तीन संदिग्धों को देखा गया था। इसमें से दो आत्मघाती हमलावर थे, जबकि तीसरा बंदूक़ लेकर आया था। मरने वालों का आंकड़ा बढ़ने की आशंका है।’
जानकारी के मुताबिक़, एक हमलावर ने उन लोगों को निशाना बनाकर हमला किया जो गर्मी से बचने के लिए घुटनों तक पानी वाली नहर में खड़े थे और इस दौरान शव पानी में बिखर गए। ऐसे लोग जोकि कुछ देर पहले तक विमान में सवार होकर निकलने की उम्मीद कर रहे थे वो घायलों को एंबुलेंस में ले जाते देखे गए। उनके कपड़े ख़ून से सन गए थे।
यह विस्फोट ऐसे समय हुआ है, जब अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबान के नियंत्रण के बाद से हज़ारों अफ़ग़ान देश से निकलने की कोशिश कर रहे हैं और पिछले कई दिनों से हवाई अड्डे पर जमा हैं। क़ाबुल हवाई अड्डे से बड़े स्तर पर लोगों की निकासी अभियान के बीच पश्चिमी देशों ने हमले की आशंका जतायी थी। इससे पहले दिन में कई देशों ने लोगों से हवाईअड्डे से दूर रहने की अपील की थी क्योंकि वहाँ आत्मघाती हमले की आशंका जतायी गई थी।

Leave a Comment