बिहार में सरपंच का शर्मनाक कटाक्ष

The News Air- सुपौल। बिहार के सुपौल जिले से एक शर्मनाक मामला सामने आया है. जहां सरपंच अपने साथियों के साथ दबंगई दिखाते हुए एक घर में घुस गया। जिसके बाद वह तीन बहनों के साथ फ्लर्ट करने लगा। पीड़ित छात्राओं ने इसका विरोध किया तो इस दौरान उनके साथ मारपीट की गई। इतना ही नहीं घरवालों के सामने एक लड़की ने धारदार हथियार से अपनी नाक काट ली.

रॉड और कुल्हाड़ियों से लहूलुहान हुई बच्ची का पूरा परिवार
दरअसल यह शर्मनाक मामला सुपौल जिले के सदर थाना क्षेत्र के एक गांव से शनिवार रात सामने आया है. जहां कुछ दबंग लोगों ने अपने ही गांव के एक परिवार की लड़की के चरित्र पर सवाल उठाना शुरू कर दिया. इस दौरान गांव के सरपंच ने पीड़ित परिवार के घर में घुसकर तीन बच्चियों के साथ दुष्कर्म किया. लेकिन सरपंच का विरोध पीड़ित परिवार को महंगा पड़ा। उत्पीड़कों ने लड़की के पिता, बहन और मां पर रॉड और कुल्हाड़ियों से हमला किया और उन्हें खून से लथपथ कर दिया। वह चिल्लाता रहा, लेकिन उसे बचाने कोई नहीं आया।

सरपंच खुद शिकायत करने थाने पहुंचे
हैरानी की बात यह है कि आरोपी सरपंच खुद भी मारपीट कर थाने पहुंच गया। जहां उन्होंने पीड़ित परिवार के खिलाफ मारपीट का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है. इसके बाद जब मैं कहने लगा कि इस परिवार का मुझसे चुनावी झगड़ा चल रहा है। ये लोग मेरी छवि खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। इन लोगों ने मुझ पर और मेरे समर्थकों पर हथियारों से हमला किया। हमले में तीन लोग घायल हो गए।

पीड़ित लड़कियों ने सुनाई घटना
आरोपित जब थाने पहुंचा और झूठे आरोप लगाए तो पीड़िता की बच्चियां भी थाने पहुंच गईं. पुलिस के सामने घटना की आवाज सुनी गई। पीड़ितों ने कहा- लौध गांव के सरपंच मो. मुस्तकिन अपने साथियों के साथ रात में जबरन उसके घर में घुस गया और अपनी छोटी बेटी पर झूठे आरोप लगाने लगा। इसका विरोध करने पर दोनों बहनों ने तीनों के साथ दुष्कर्म करना शुरू कर दिया। इसके बाद दबंग सरपंच ने अपने भाइयों के साथ मिलकर उन्हें पीटा और एक युवती की नाक काट दी। वहीं मामले की जांच कर रहे डीएसपी कुमार इंद्र प्रकाश ने बताया कि फिलहाल पुलिस इस मामले में दोनों पक्षों के दावों की सच्चाई का पता लगाने में लगी हुई है. कौन सच बोल रहा है और कौन झूठ।

Leave a Comment