Delhi के प्रदूषण पर SC सख़्त: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- संभव हो तो 2 दिन का लॉकडाउन लगा दें


नई दिल्ली: दुनिया की सबसे प्रदूषित शहर दिल्ली (Delhi) को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) भी सख़्त हो गया है। बढ़े हुए प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को दो टूक कहा कि दिल्ली में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में है और अगले 2 से 3 दिनों में यह और कम हो जाएगी। आपातकालीन निर्णय लें। हम बाद में दीर्घकालिक समाधान देखेंगे। 15 नवम्बर को कोर्ट फिर से सुनवाई करेगा और इस बीच उठाए गए क़दम के बारे में जानकारी देना होगा।

किसानों को कोसना एक फैशन बन गया

सुप्रीम कोर्ट ने वायु प्रदूषण के उच्चतम स्तर पर पहुंचने से हो रही दिक्क़तों को देखते हुए याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि अब किसानों को कोसना एक फैशन बन गया है चाहे वह दिल्ली सरकार हो या कोई और। पटाखों पर बैन था, उसका क्या हुआ?

दिल्ली सरकार के लापरवाह रवैया पर कोर्ट ने पूछा कि आपने राष्ट्रीय राजधानी में सभी स्कूल खोल दिए हैं और अब बच्चे प्रदूषण के संपर्क में हैं। यह केंद्र का नहीं बल्कि आपका अधिकार क्षेत्र है। उस मोर्चे पर क्या हो रहा है?

केंद्र को कोर्ट का निर्देश राजनीति से परे देखें इस मुद्दे को

केंद्र से सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आपको इस मुद्दे को राजनीति और सरकार से परे देखना होगा। कुछ ऐसा होना चाहिए जिससे दो-तीन दिन में हम बेहतर महसूस करें।

दुनिया के दस सबसे प्रदूषित शहरों में टॉप पर दिल्ली

दरअसल, दुनिया के 10 सबसे ज़्यादा प्रदूषित शहरों में दिल्ली सबसे आगे है। दस टॉप शहरों में मुंबई और कोलकाता भी शामिल है। स्विटजरलैंड की क्लाइमेट ग्रुप IQAir ने एक नई सूची जारी की है। यह संस्था संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण प्रोग्राम में टेक्नोलॉजी पार्टनर है।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने भी दिए तत्काल कुछ करने की सलाह

दिल्ली में आज हवा का गुणवत्ता स्तर (AQI) 476 है। यह बेहद गंभीर श्रेणी की स्थितियां हैं। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) ने शुक्रवार को ही चेतावनी दी थी कि अगले 48 घंटों के लिए हवा की क्वालिटी गंभीर बनी हुई है। राज्यों और स्थानीय निकायों को आपातकालीन उपायों को लागू करना चाहिए, जिसमें स्कूलों को बंद करना, निजी कारों पर ‘ऑड-ईवन’ प्रतिबंध लगाना और सभी तरह के कंस्ट्रक्शन को रोकना शामिल है।

यूपी के पांच शहरों का AQI 400 से ज़्यादा

बुलंदशहर, हापुड़, नोएडा, मेरठ और गाज़ियाबाद में भी हवा काफ़ी प्रदूषित है। इन पांच शहरों में AQI 400 से ज़्यादा है। बुलंदशहर में AQI का स्तर 444 है। पीएम10 का स्तर 568 और पीएम 2.5 का स्तर 417 है। लखनऊ की भी हवा प्रदूषित है। यहां AQI 187 है, पीएम10 का स्तर 187 और पीएम 2.5 का स्तर 125 है।

प्रदूषण से हो रहे फेफड़े ख़राब

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की मानें तो दिल्ली की हवा में फेफड़ों को नुक्सान पहुंचाने वाले PM2.5 (धूल के बेहद महीन कण) का स्तर शुक्रवार को आधी रात के क़रीब 300 का आंकड़ा पार कर गया। यह शाम 4 बजे 381 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर था। हवा के सुरक्षित होने के लिए PM2.5 का स्तर 60 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर होना चाहिए। अभी यह क़रीब 6 गुना अधिक है। PM2.5 इतना छोटा होता है कि यह फेफड़ों के कैंसर और सांस से जुड़ी गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है।


Leave a Comment

error: Content is protected !!
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

I Have Disabled The AdBlock Reload Now