4,738 सरकारी स्कूलों में लैंगुएज लिसनिंग लैब्ज़ स्थापित करने के लिए 4.74 करोड़ रुपए की राशि जारी


चंडीगढ़, 3 अगस्त (The News Air)

पंजाब के स्कूल शिक्षा मंत्री श्री विजय इंदर सिंगला ने आज कहा कि सरकारी स्कूलों में मानक शिक्षा को और ऊँचा उठाने के मंतव्य से मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली राज्य सरकार द्वारा 4,738 स्मार्ट स्कूलों में लैंगुएज लिसनिंग लैब्ज़ स्थापित करने का फ़ैसला लिया गया है। श्री सिंगला ने बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा 2,200 प्राईमरी और 2,538 हाई और सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में लैंगुएज लिसनिंग लैब्ज़ की स्थापना के लिए 4.74 करोड़ रुपए की अनुदान राशि जारी की गई है।

कैबिनेट मंत्री ने बताया कि हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए परफॉर्मेंस ग्रेडिंग इंडैक्स (पीजीआई) के अनुसार, स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में पंजाब अग्रणी राज्य बनकर उभरा है और उनकी सरकार आने वाले सालों में इस स्थान को बरकरार रखने के लिए लगातार यत्न कर रही है। उन्होंने आगे कहा कि मानक शिक्षा बच्चों का अधिकार है और इसके लिए कांग्रेस सरकार द्वारा स्कूलों में उपयुक्त माहौल सृजन करने के लिए हर संभव यत्न किए जा रहे हैं, जिसके स्वरूप अध्यापक और विद्यार्थी शिक्षा और सीखने की बेहतर प्रक्रिया में शामिल हो रहे हैं।

लैंगुएज लिसनिंग लैब्ज़ की सुविधाओं सम्बन्धी विवरण देते हुए श्री विजय इंदर सिंगला ने कहा कि यह लैब्ज़ के सुचारू कामकाज को सुनिश्चित बनाने के लिए ब्लूटुथ ऐंपलीफायर, हैडफोन्ज़, बैटन, पैन-ड्राइव और ऑक्स केबल के साथ लैस होंगी। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्धी जि़ला अधिकारियों को विस्तृत दिशा-निर्देश भी जारी किए गए हैं और इस सामग्री की निष्पक्ष और पारदर्शी ढंग से खऱीद करने के लिए सख्त हिदायत की गई है।

सिंगला ने बताया कि इन कक्षाओं में अन्य सुनने योग्य सामग्री चलाने के साथ-साथ अध्यापकों को उनकी आवाज़ रिकॉर्ड करने और इन स्मार्ट लिसनिंग लैब्ज़ में अध्यापन के मंतव्य के लिए उसका प्रयोग करने की आज्ञा दी गई है। उन्होंने कहा कि इन स्कूलों के विद्यार्थियों के ज्ञान का नियमित अंतराल पर मुल्यांकन किया जाएगा और सकारात्मक नतीजे आने के उपरांत राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में स्मार्ट लैंगुएज लिसनिंग लैब्ज़ का विस्तार किया जाएगा।


Leave a Comment