पंडित Birju Maharaj का निधन: कहा था- डांसर नहीं होता तो मैकेनिक बनता

The News Air- (नई दिल्ली) प्रसिद्ध कथक नर्तक पंडित बिरजू महाराज (Birju Maharaj) का हार्ट अटैक से निधन हो गया है। पद्म विभूषण से सम्मानित 83 साल के बिरजू महाराज ने रविवार सोमवार की दरमियानी रात दिल्ली के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली। उनके पोते स्वरांश मिश्रा ने सोशल मीडिया पोस्ट के ज़रिए इस बारे में जानकारी दी। बिरजू महाराज का जन्म 4 फरवरी 1938 को लखनऊ में हुआ था। उनका पूरा नाम पंडित बृजमोहन मिश्र था। लखनऊ घराने से ताल्लुक़ रखने वाले बिरजू महाराज कथक डांसर होने के साथ ही शास्त्रीय गायक भी थे।

एक महीने से थे बीमार

कथक नृतक बिरजू महाराज के निधन पर उनकी पोती रागिनी महाराज ने बताया कि पिछले एक महीने से उनका इलाज चल रहा था। बीती रात उन्होंने मेरे हाथों से खाना खाया, मैंने कॉफ़ी भी पिलाई। इसी बीच उन्हें सांस लेने में तकलीफ़ हुई हम उन्हें अस्पताल ले गए लेकिन उन्हें बचाया ना जा सका। उन्होंने बताया कि वह गैजेट्स से बहुत प्यार करते थे। वह हमेशा कहते थे अगर वह डांसर नहीं होते तो मैकेनिक होते। मेरे दिमाग़ में उनकी छवि हमेशा मुस्कुराती रहेगी। उन्होंने बताया कि उनका पिछले एक महीने से इलाज चल रहा था। बीती रात क़रीब 12.15 या 12.30 बजे उन्हें अचानक सांस लेने में तकलीफ़ हुई। हम उन्हें 10 मिनट के भीतर अस्पताल ले आए, लेकिन उनका निधन हो गया।

फ़िल्मों में भी किया था डांस कोरियोग्राफी

बिरजू महाराज ने देवदास, डेढ़ इश्क़िया, उमराव जान और बाज़ी राव मस्तानी जैसी फ़िल्मों के लिए डांस कोरियोग्राफ किया था। इसके अलाव इन्होंने सत्यजीत रे की फ़िल्म ‘शतरंज के खिलाड़ी’ में म्युजिक भी दिया था। बिरजू महाराज को 1983 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। इसके साथ ही इन्हें संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार और कालिदास सम्मान भी मिला है। काशी हिंदू विश्वविद्यालय और खैरागढ़ विश्वविद्यालय ने बिरजू महाराज को डॉक्टरेट की मानद उपाधि भी दी थी।

dolon
dolon
dolon
dolon
dolon
Koo App
भारतीय कला-संस्कृति को कथक नृत्य शैली के माध्यम से संपूर्ण विश्व में प्रसिद्धि दिलाने वाले कथक सम्राट पद्म विभूषण पंडित बिरजू महाराज जी का निधन अत्यंत दुःखद है। उनको मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि। पंडित बिरजू महाराज जी का निधन कला जगत एवं देश के लिए अपूरणीय क्षति है। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे और परिजनों को संबल दे। ॐ शांति
Nitin Gadkari (@nitin.gadkari) 17 Jan 2022
dolon
dolon
dolon

Leave a Comment