LML Electric Scooter भारत में जल्द होगा लॉन्च!

LML की भारतीय टू-व्हीलर मार्केट में जल्द वापसी हो सकती है। एलएमएल इलेक्ट्रिक (LML Electric) ने सीरा इलेक्ट्रिक ऑटो (Saera Electric Auto) के साथ पार्टनरशिप की घोषणा की है। इस भागीदारी के साथ कंपनी अपना इलेक्ट्रिक व्हीकल मार्केट में लाने की तैयारी कर रही है। इसलिए इलेक्ट्रिक टूव्हीलर मार्केट में जल्द ही LML का Electric स्कूटर भी देखने को मिल सकता है। Saera Electric Auto पहले भारत में Harley Davidson के लिए प्रोडक्ट बनाती थी। इसका प्लांट हरियाणा के बावल में है जो लगभग 2 लाख 17 हजार वर्ग फीट में फैला हुआ है। इस प्लांट की क्षमता हर महीने 18 हजार यूनिट्स बनाने की है। एलएमएल सीरा इलेक्ट्रिक की पहले से मौजूद मेन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी का पूरा फायदा उठाने की कोशिश करेगी। 

LML भारत की टू-व्हीलर इंडस्ट्री में पहले जाना माना नाम था। इलेक्ट्रिक स्कूटर के जरिए कंपनी फिर से इंडियन मार्केट में वापसी करने की तैयारी में है और Saera Electric Auto के साथ पार्टनरशिप से पता चलता है कि कंपनी Ola और Ather जैसी कंपनियों की टक्कर में अपना EV उतारने का मन बना चुकी है। कंपनी इस भागीदारी के जरिए 2025 तक पूरी तरह से ‘मेड इन इंडिया’ कंपनी बनने का लक्ष्य लेकर चल रही है।

एलएमएल के सीईओ योगेश भाटिया ने प्रेस को दिए एक बयान में कहा, “हम व्हीकल मैन्युफैक्चरर की इम्पोर्ट की जरूरतों को कम करने की कोशिश कर रहे हैं। भारत समेत दुनियाभर में इलेक्ट्रिक व्हीकल समय की मांग हैं और इसके लिए एक मजबूत बुनियादी ढांचे की जरूरत होगी, और हम इसी पर काम कर रहे हैं। Saera Electric Auto के साथ हमारी भागीदारी देश में EV मैन्युफैक्चरिंग के नए आयाम स्थापित करेगी और भारत की मैन्युफैक्चरिंग ग्लोबल स्टैंडर्ड्स को मैच करेगी।”

भारत में इलेक्ट्रिक टू व्हीलर मार्केट दिन-प्रतिदिन अपना दायरा बढ़ाती जा रही है। देश में पहले से मौजूद कई दिग्गज कंपनियों के साथ नए खिलाड़ी भी इलेक्ट्रिक स्कूटर सेगमेंट में उतर चुके हैं। ऐसे में एलएमएल का EV के क्षेत्र में कदम रखना कोई हैरानी की बात नहीं है। लेकिन इस सेगमेंट में ओला और एथर जैसी कंपनियां पहले से ही अपने किफायती इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर लॉन्च कर चुकी हैं। अब देखना होगा कि एलएमएल ऐसी कौन सी रणनीति अपनाती है जिससे मार्केट में पहले से स्थापित कंपनियों को इस सेगमेंट में पछाड़ भी पाती है या नहीं। LML की स्थापना 1979 में की गई थी। पुराने समय में यह कंपनी भारत में अपनी विशेष पहचान रखती थी।

Leave a Comment