सुखपाल खैहरा की ज़मानत पर सुनवाई आज:पटियाला जेल में बंद नेता को कांग्रेस दे चुकी टिकट

The News Air- पंजाब में तेजतर्रार नेता सुखपाल खैहरा की ज़मानत याचिका पर आज सुनवाई होगी। वह इस वक़्त पटियाला जेल में बंद हैं। एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट(ED) ने उन्हें गिरफ़्तार किया था। हालांकि कांग्रेस की पहली लिस्ट में उन्हें भुलत्थ से टिकट भी मिल चुकी है। लेकिन अभी वह प्रचार नहीं कर पा रहे हैं। खैहरा ने पिछला चुनाव आम आदमी पार्टी से जीता था। कुछ वक़्त तक वह विधानसभा में विपक्ष के नेता रहे। हालांकि फिर आप ने उन्हें सस्पेंड कर दिया। जिसके बाद कुछ माह पहले ही वह कैप्टन अमरिंदर सिंह के सीएम रहते कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

मनी लॉन्ड्रिंग और ड्रग केस में हुई थी गिरफ़्तारी

AAP छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए सुखपाल खैहरा को ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग और फाजिल्का ड्रग केस में गिरफ़्तार किया गया था। उन पर फाजिल्का ड्रग केस के सरगना से लगातार बातचीत का आरोप है। वहीं अमेरिका से क़रीब एक लाख डॉलर फ़ंड लाने का आरोप है। हालांकि खैहरा ने कहा कि फाजिल्का ड्रग केस में वे नामज़द नहीं हैं। इस केस पर सुप्रीम कोर्ट का स्टे है। वहीं अमेरिकी डॉलर अरविंद केजरीवाल को मिले थे। वह पार्टी के स्पांसर्ड कार्यक्रम में यूएसए गए थे। उनका इससे लेना-देना नहीं। इसके अलावा उन्हें फेक पासपोर्ट स्कैम के मामले में भी जांच के दायरे में बताया गया है।

खैहरा के बेटे ने कहा- झूठा मामला बनाया गया

सुखपाल खैहरा के बेटे मेहताब खैहरा ने कहा कि ईडी ने गिरफ़्तारी के लिए जो ग्राउंड बताए, वह चालान में नहीं है। चालान में कहा गया है कि खैहरा की आमदनी और ख़र्च में 3 करोड़ का अंतर है। इसे 2015 में ड्रग्स के केस से जोड़कर देखा जा रहा है। इस पैसे को ड्रग मनी बताने की कोशिश की जा रही है। जिस मामले से इसे जोड़ा गया है, उस केस पर सुप्रीम कोर्ट ने स्टे लगा रखा है। मेहताब ने कहा कि ईडी ने जांच में उनकी एक-एक करोड़ की 2 लिमिट अकाउंट में नहीं ली। उनकी पैतृक ज़मीन पर खेती के ठेके को भी सही ढंग से कैलकुलेट नहीं किया।

पटियाला जेल में बंद हैं सुखपाल खैहरा

खैहरा को गिरफ़्तार करने के बाद ED को 7 दिन की कस्टडी मिली। इसके बाद फिर उन्हें मोहाली कोर्ट में पेश किया गया। ईडी यहां और रिमांड की मांग कर रही थी, लेकिन कोर्ट ने खैहरा को न्यायिक हिरासत में पटियाला जेल भेज दिया गया है। हालांकि ईडी की तरफ़ से इस मामले में आधिकारिक तौर पर कोई बयान जारी नहीं किया गया।

Leave a Comment