’ओलम्पिक में भाग लेने जा रहे खिलाड़ियों को दिए पांच-पांच लाख रुपए’ ’कुल 1 करोड़ 30 लाख रुपए बांटे’


चंडीगढ़, 18 जूनः (The News Air)

ओलम्पिक खेल में भाग लेने जाने वाले पंजाब के एथलीटों से अपने प्रदर्शन के द्वारा राज्य और देश का नाम रौशन करने का आह्वान करते हुए खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने कहा कि पंजाब को पूरी उम्मीद है कि हमारे खिलाड़ी टोकियो से बड़ी संख्या में पदक जीत कर घर लौटेंगे।

यहाँ पंजाब के खिलाड़ियों के साथ वीडीयो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा बातचीत करते हुए शूटिंग के प्रसिद्ध खिलाड़ी रहे राणा सोढी ने टोकियो जा रहे पंजाब के खिलाड़ियों को इस खेल महाकुंभ के लिए अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने और ज़रुरी साजो-सामान की ख़रीद-फ़रोख़्त के लिए पाँच-पाँच लाख रुपए सौंपे। इन खिलाड़ियों को कुल 1 करोड़ 30 लाख रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की गई।

प्रत्येक खिलाड़ी के लिए आर्थिक मदद का ऐलान करते हुए राणा सोढी ने कहा कि उम्मीद है कि टोकियो ओलम्पिक्स में भारत की तरफ से तकरीबन 190 सदस्यीय दल भाग लेगा, जिसमें से 100 एथलीट पहले ही क्वालीफाई कर चुके हैं। इनमें 56 पुरुष और 44 महिलाएं हैं। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि 25 से 30 और एथलीट 23 जुलाई से शुरू हो रहे इन खेलों के लिए क्वालीफाई करेंगे।

खेल मंत्री ने बताया कि भारतीय ओलंपिक दल में पंजाब की बड़ी नुमायंदगी होगी क्योंकि अब तक 26 एथलीट पंजाब के क्वालीफाई कर चुके हैं। उनके साथ महाराजा भुपिन्दर सिंह पंजाब खेल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर लैफ्टिनेंट जनरल (सेवामुक्त) डॉ. जगबीर सिंह चीमा, रजिस्ट्रार कर्नल नवजीत सिंह संधू, खेल विभाग के प्रमुख सचिव खेल और युवक सेवाएं राज कमल चौधरी, विशेष सचिव-कम-डायरैक्टर डी.पी.एस. खरबन्दा, पी.आई.एस. डायरैक्टर श्री अमरदीप सिंह और संयुक्त सचिव करतार सिंह मौजूद थे। 

पंजाब सरकार द्वारा खिलाड़ियों के साथ किया गया वादा दोहराते हुए राणा सोढी ने बताया कि ओलंपिक में से पंजाब के स्वर्ण पदक विजेता को 2.25 करोड़ रुपए, रजत पदक जीतने वाले को 1.5 करोड़ रुपए और काँस्य पदक विजेता को 1 करोड़ रुपए और सरकारी नौकरी दी जायेगी। उन्होंने कहा कि हमें आशा है कि पंजाब के अधिक से अधिक खिलाड़ी पदक सूची में अपना नाम दर्ज करवाएंगे और हॉकी का खेल इसमें अगुआ होगा। भारतीय हॉकी टीम में आधे से अधिक खिलाड़ी पंजाब के चुने जाने की संभावना है। उन्होंने दावा किया कि पंजाब की नयी खेल नीति उभरते हुए खिलाड़ियों के लिए बेहद लाभप्रद साबित हुई है और इससे खिलाड़ियों को विदेशी प्रशिक्षकों की निगरानी अधीन आधुनिक साजो-सामान के साथ अभ्यास करने का मौका मिल रहा है।

टोकियो रवाना होने से पहले सभी भारतीय खिलाड़ियों को कोरोना की रोकथाम के लिए दवा देनी यकीनी बनाने के लिए केंद्र सरकार से अपील करते हुए कैबिनेट मंत्री ने कहा कि ओलम्पिक्स ऐसा प्लेटफार्म है, जिसमें विश्व के बेहतरीन खिलाड़ी अपने खेल के जौहर दिखाते हैं। हमें उम्मीद है कि हमारे खिलाड़ी अपना पूरा बल लगाकर देश को गौरवान्वित करेंगे। उन्होंने बताया कि कोविड महामारी के कारण पैदा हुई चुनौतियों के बावजूद खेल विभाग ने खिलाड़ियों को वित्तीय और साजो-सामान की मदद मुहैया करवाई।

आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मनप्रीत सिंह (हॉकी कप्तान), आकाशदीप सिंह, हरमनप्रीत सिंह, कृष्ण पाठक, वरुण कुमार, गुरिन्दर सिंह, मनदीप सिंह, जरमनप्रीत सिंह, समशेर सिंह, गुरसाहिबजीत सिंह, रुपिन्दरपाल सिंह, रमनदीप सिंह, हार्दिक सिंह, सिमरनजीत सिंह, जसकरन सिंह, गुरजंट सिंह और दिलप्रीत सिंह (सभी हॉकी खिलाड़ी), राजविन्दर कौर, गुरजीत कौर और रीना खोखर (महिला हॉकी खिलाड़ी), सिमरनजीत कौर (मुक्केबाज़ी), अंजुम मौदगिल्ल (शूटिंग), अंगद वीर सिंह बाजवा (शूटिंग), कमलप्रीत कौर (डिस्क थ्रो), तेजिन्दरपाल सिंह तूर (शॉटपुट) और पलक कोहली (पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी) ने अपने माता-पिता के साथ विभिन्न जिलों से भाग लिया और खेल मंत्री के साथ विचार-विमर्श करते हुए अपनी खेल तैयारियों और दाव-पेचों संबंधी बात की।

हरदीप कौर खेल विभाग में बतौर कराटे प्रशिक्षक निभाएगी सेवा- इससे पहले खेल मंत्री राणा सोढी ने ज़िला मानसा की 23 वर्षीय अंतरराष्ट्रीय कराटे खिलाड़ी हरदीप कौर को बतौर कराटे प्रशिक्षक की नौकरी के लिए नियुक्ति पत्र भी सौंपा। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार वह अपने पैतृक गाँव गुरने कलाँ में धान की बुवाई के लिए मज़दूर के तौर पर काम करने के लिए मजबूर थी। राणा सोढी ने कहा कि कई अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप में पदक जीत चुकी हरदीप कौर को दो साल पहले सरकारी नौकरी देने का वादा किया गया था परन्तु क्योंकि कोरोना महामारी के कारण सभी को घरों में बंद रहने के लिए मजबूर होना पड़ा और हरदीप कौर विभाग में अपने पूरे दस्तावेज़ जमा नहीं  करवा सकी थी, इसलिए उसकी नियुक्ति में देरी हुई है। खेल मंत्री ने हरदीप कौर को विश्व स्तरीय खेल के लिए तैयारी करने के लिए प्रेरित किया और भविष्य में हर संभव सहायता देने का भरोसा भी दिया।


Leave a Comment