सीएम चन्नी फिर हुए दिल्ली रवाना, घंटों मंथन के बाद फाइनल हुई मंत्रिमंडल की सूची में होगा बदलाव

नई दिल्ली, 24 सितंबर (The News Air)
पंजाब कांग्रेस में काफी समय से कुछ अच्छा नहीं चल रहा है, क्य़ोंकि आए दिन पंजाब कांग्रेस की लीडरशिप मीडिया की सुर्खियां बनती आ रही है। अगर बीते सप्ताह की बात करें तो कांग्रेस हाई कमान के आदेशों पर कैप्टन अमरिन्दर सिंह को सीएम पद से हटा कर चरनजीत सिंह चन्नी को पंजाब का नया सीएम नियुक्त कर दिया गया, जिसको लेकर पार्टी में घमासान आज भी जारी है और जो रुकने का नाम नहीं ले रहा है।

घंटों मंथन के बाद फाइनल हुई मंत्रिमंडल की सूची में करवाना है बदलाव
बीते दिन देर रात तक मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी पंजाब कैबिनेट में फेरबदल के इलावा अन्य मुद्दों को लेकर राहुल गांधी के साथ मीटिंग करने के बाद आज प्रातःकाल ही 4 बजे वापिस आए थे, जिसके बाद राहुल गांधी ने आज फिर से मुख्यमंत्री चन्नी को अकेले दिल्ली दरबार में हाजिर होने के आदेश दे दिए हैं। सूत्रों से जानकारी मिली है कि आज सुनील जाखड़ ने राहुल गांधी से मीटिंग की है और बीती रात मुख्यमंत्री चन्नी और कांग्रेस हाईकमान के साथ जो मंत्रीमंडल की सूची फाइन की है उसमें कोई बदलाव करवाने के लिए ही सीएम चन्नी को दिल्ली बुलाया है। आज संभावना यह भी है कि राहुल गांधी मुख्यमंत्री को राज्यपाल से मंत्रियों को शपथ दिलाने के लिए टाईम लेने के लिए कह सकते और मंत्रियों की सूची को शपथ लेने के कुछ घंटे पहले ही जारी करने की सूचना है।

कैप्टन के दोस्तों से कपूरथला हाऊस को मुक्त करवाने की आदेश किए जारी
पंजाब भवन दिल्ली के प्रशासनिक आधिकारियों को उस समय हफरा-तफरी मच गई जब अचानक मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी दिल्ली पहुंच गए, क्योंकि मुख्यमंत्री की अलग रिहायश कपूरथला हाऊस में होती है, परन्तु वहां कैप्टन अमरिन्दर सिंह के फैमिली फ़्रैंड रह रहे हैं। यह भी पता लगा है कि पंजाब सरकार के दिल्ली में तैनात आधिकारियों ने कैप्टन के दोस्तों से कपूरथला हाऊस मुक्त ही नहीं करवाया। पता लगा है कि चन्नी सरकार के नए अधिकारियों ने जल्द से जल्द कपूरथला हाऊस को कैप्टन के दोस्तों से मुक्त करवाने के आदेश जारी कर दिए हैं।

गांधी भाई-बहन को सुनील जाखल ने बताई पूरी कहानी
एक दिन पहले कैप्टन अमरिन्दर सिंह का दूत बन कर दिल्ली पहुंचे सुनील जाखड़ ने भी राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के ध्यान में सारा मामला ला दिया है, क्योंकि उसने मौके की नज़ाकत देखते चण्डीगढ़ एयरपोर्ट से राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ उस समय दिल्ली तक सफ़र किया जब गांधी परिवार के वंश अपने शिमला दौरे से चंडीगढ़ वापस दिल्ली जा रहे थे।

Leave a Comment