बांग्लादेश में रोहिंग्या कैम्प की मस्जिद पर हमला, 7 लोगों की मौत; म्यांमार के विद्रोही गुट ARSA पर शक


ढाका,22 अक्टूबर (The News Air)

बांग्लादेश के कॉक्स बाजार(Cox’s Bazar) स्थित रोहिंग्या शिविर की एक मस्जिद पर 22 अक्टूबर की सुबह करीब 4 बजे अज्ञात हमलावरों ने हमला कर दिया। इस हमले में 7 लोगों की मौत की खबर है। इस हमले के पीछे  म्यांमार के रोहिंग्या विरोधी गुट अराकान रोहिंग्या साल्वेशन आर्मी(ARSA) का हाथ माना जा रहा है। इसे आमतौर पर हराका अल-याकिन(Harakah al-Yaqin) के नाम से भी जाना जाता है। यह म्यांमार के उत्तरी रखाइन राज्य( northern Rakhine State) में सक्रिय है। इस मामले में पुलिस को एक हमलावर हाथ लगा है। बाकियों की तलाश के लिए कैंप में सर्चिंग चल रही है।

Bangladesh attack on madarsa at Rohingya Camp

सशस्त्र पुलिस बटालियन (APBN) की उखिया स्थित इकाई के प्रमुख अधीक्षक (SP) शिहाब कैसर ने कहा कि हमले में 4 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि तीन ने स्थानीय अस्पताल में दम तोड़ दिया। सुरक्षा बल के एक अधिकारी ने बताया कि अज्ञात लोगों ने कैंप नंबर-18 के ब्लॉक एच-52 में स्थित ऊखिया उपजिला की एक मस्जिद पर तड़के करीब 4 बजे हमला किया था।

Bangladesh attack on madarsa at Rohingya Camp

पुलिस से रोहिंग्या कैंप की मस्जिद पर हुए हमले में एक हमलावर को पकड़ा है। एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया कि उसके पास से लोकल में बनी बन्दूक के अलावा गोला-बारूद और एक धारदार हथियार बरामद हुए हैं। पुलिस अन्य अपराधियों की तलाश के लिए शिविरों में छापेमारी कर रही है। शिविर में अतिरिक्त बलों को तैनात किया गया है।

Bangladesh attack on madarsa at Rohingya Camp

SP शिहाब कैसर ने बताया कि रोहिंग्या कैम्पों में पहले भी हमले और झड़पों की घटनाएं सामने आती रही हैं। हालांकि लॉ इन्फॉर्समेंट(law enforcers) ने दावा किया था कि ये हमले रोहिंग्या लुटेरों या तस्करों ने किए।

Bangladesh attack on madarsa at Rohingya Camp

29 सितंबर की रात कुटुपलोंग कैम्प (Kutupalong camp) में अज्ञात बंदूकधारियों ने अराकान सोसायटी फॉर पीस एंड ह्यूमन राइट्स (Arakan Rohingya Society for Peace and Human Rights-ARSPH) के अध्यक्ष मोहिब उल्लाह की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

Bangladesh attack on madarsa at Rohingya Camp

बांग्लादेश ने 825 करोड़ रुपए खर्च करके 20 साल पुराने भासन चार द्वीप को रेनोवेट किया है। इस जगह पर करीब एक लाख रोहिंग्या शरणार्थियों को बसाया जा रहा है। बांग्लादेश की आबादी 16.15 करोड़ है। लेकिन यहां के कॉक्स बाजार जिले में करीब 8 लाख से ज्यादा रोहिंग्या शरणार्थी रह रहे हैं। ये सभी म्यांमार से खदेड़े गए हैं।

(फोटो-मोहिब उल्लाह की हत्या में गिरफ्तार आरोपी)


Leave a Comment

error: Content is protected !!
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

I Have Disabled The AdBlock Reload Now