आतंकी गिरफ्तारी मामले में एक और सफलता, टिकट बुक करने वाला ट्रैवल एजेंट भी चढ़ा पुलिस के हत्थे


नई दिल्ली,  15 सितंबर (The News Air)

दिल्ली की एक अदालत ने आगामी त्योहारी सीजन के दौरान महाराष्ट्र, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में आतंकवादी हमलों की योजना बनाने के आरोपी छह संदिग्धों को चौदह दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है। एक अधिकारी ने बुधवार को यहां यह जानकारी दी। इसी के साथ दिल्ली में पकड़े गए छह आतंकियों के बाद बुधवार को मुंबई पुलिस और अपराध शाखा ने मिलकर एक ट्रैवल एजेंट को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि इस एजेंट के उन आतंकियों के साथ संबंध हैं और बीते 13 सितंबर को इसी ने एक आतंकी के दिल्ली जाने के लिए ट्रेन की टिकट बुक की थी। महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलिप पाटिल ने कहा कि मैंने इस मामले में एक बैठक बुलाई है। इसमें महाराष्ट्र एटीएस चीफ, डीजीपी संजय पाण्डेय और मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नगरले मौजूद रहेंगे।

पुलिस के मुताबिक, कोर्ट ने जीशान कमर और मोहम्मद आमिर जावेद समेत सभी छह संदिग्धों को रिमांड पर लिया, जिन्हें मंगलवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था। मंगलवार को, दिल्ली पुलिस ने कहा था कि उन्होंने पाकिस्तान स्थित एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है और दो लोगों – जीशान और जावेद सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया है, जिन्हें पाकिस्तान में प्रशिक्षित किया गया था। दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ के एक अधिकारी ने एक बहुराज्यीय अभियान का विवरण देते हुए कहा कि उन्हें केंद्रीय एजेंसियों से इनपुट मिला था कि देश के प्रमुख शहरों में आतंकवादी हमले करने की साजिश रची जा रही है। इस गंभीर इनपुट को देखते हुए दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने डीसीपी प्रमोद कुशवाहा और एसीपी हृदय भूषण और ललित जोशी की निगरानी में एक टीम गठित की थी।

विशेष पुलिस आयुक्त, स्पेशल सेल, नीरज ठाकुर ने मंगलवार को एक प्रेस वार्ता में कहा, मानव और तकनीकी इनपुट का विश्लेषण करने के बाद, हमने महसूस किया कि यह एक बहुत बड़ा नेटवर्क था जो विभिन्न राज्यों में फैला हुआ था। मंगलवार की सुबह हमने विभिन्न राज्यों में कई छापेमारी करके इस ऑपरेशन को अंजाम दिया। ठाकुर ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि सीमा पार से आतंकी अभियान को बारीकी से समन्वित किया गया था। पूरे ऑपरेशन को दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम द्वारा समन्वित किया जा रहा है। महाराष्ट्र के रहने वाले समीर नाम के पहले व्यक्ति को कोटा से उस समय गिरफ्तार किया गया जब वह एक ट्रेन में यात्रा कर रहा था, जबकि दो अन्य को राष्ट्रीय राजधानी से पकड़ा गया।

अधिक मानवीय और तकनीकी इनपुट से, विशेष प्रकोष्ठ ने उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधी दस्ते (यूपी-एटीएस) के साथ मिलकर राज्य में छापेमारी की और तीन और लोगों को गिरफ्तार किया। अधिक जानकारी देते हुए, ठाकुर ने कहा कि गिरफ्तार किए गए छह लोगों में से दो को मस्कट के रास्ते पाकिस्तान ले जाया गया जहां उन्हें एके-47 सहित विस्फोटक और आग्नेयास्त्रों का उपयोग करने के लिए प्रशिक्षित किया गया। स्पेशल सेल के अधिकारी ने कहा, प्रशिक्षण 15 दिनों तक जारी रहा जिसके बाद वे मस्कट लौट आए। उन्होंने खुलासा किया कि पाकिस्तान में उनके प्रशिक्षण के दौरान उनके समूह में 14-15 बांग्ला भाषी व्यक्ति भी थे। उन्होंने कहा कि मॉड्यूल को दो टीमों में विभाजित किया गया था। अधिकारी ने कहा, एक टीम अंडरवल्र्ड को दी गई थी जिसे दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम द्वारा समन्वित किया जा रहा था। उनका काम सीमा पार से भारत में प्रवेश करने के लिए हथियार लाना और उन्हें छुपाकर रखना था। दूसरी टीम को हवाला के माध्यम से धन की व्यवस्था करने के लिए कहा गया था।

स्पेशल सेल ने बताया कि गिरफ्तार किए गए छह में से एक व्यक्ति को देश के प्रमुख शहरों में उन स्थानों की पहचान करने का काम दिया गया है, जहां वे आगामी त्योहारी सीजन के दौरान आतंकी हमले कर सकते हैं।


Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

I Have Disabled The AdBlock Reload Now
Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro