“आप” का चंडीगढ़, झाड़ू से हारा कमल, हासिये पर हाथ

The News Air- (पंडित संदीप) चंडीगढ़ शहर को भा गई “आप” की झाड़ू, कमल दल के वर्तमान मेयर सहित चार पूर्व मेयर को जनता ने बाहर का रास्ता दिखा आप के लिए दिल और दरवाजे खोल दिए हैं। फूलबाजों से जनता इतनी नाराज है कि उनके चार वर्तमान पार्षदों को भी हार का सर्टिफिकेट थमा घर का टिकट कटा दिया है। पहली बार चंडीगढ़ शहर में आम आदमी पार्टी चुनावी समर में तालठोक उतरी और जनता को अंदाज-ए-केजरीवाल भा गया। आपका नारा, आपका काम, आपका भरोसा जनता के मन की बात बन देश के सामने हैं। झाड़ू ने वो कमाल किया कि कमल बेहाल और पंजा बेबस, सिकुड़ा, सिमटा हांसिये पर पड़ा है। अकाली दल मात्र एक सीट के साथ जस के तस बरकरार है चंडीगढ़ दरबार में।

dolon


6 लाख 33 हजार मतदाताओं के शहर सिटी ब्यूटीफुल में झाड़ू को चुन आम आदमी ने आप को जिस अंदाज में गले लगाया है कि पंजाब के चुनावी रणनीतिकारों को आप की धमक, विजय की आहट, जीत का लहराता बुलंद परचम साफ नज़र आने लगा है। साफ सुंदर शहर ने भ्रष्टाचार के कीचड़ में डूबे कमल को संकेत दिया है कि अब शहर लूट और झूठ का चेहरा बर्दाश्त नहीं करेगा। मेयर रवि कांत शर्मा की हार के साथ ही उनके साथी राजेश कालिया, देवेश मुद्गल जो शहर के प्रथम नागरिक का खिताब कबजा चुके हैं, जनता ने इनकी कहानी खराब कर घर बिठा बता जता दिया है अब हम और ” फूल” नहीं बनेंगे। भाजपा जिला अध्यक्ष मनु भसीन जिनके कंधे पर चंडीगढ़ शहर में बीजेपी को बचाने की ज़िम्मेदारी थी आखिर वो इतने कमजोर साबित हुए कि अपना ही घर नहीं बचा पाए, उनकी धर्मपत्नी राशि चुनाव में हार घर लौट चुकी हैं।


पहली बार ही चंडीगढ़ चुनाव में उतरी आम आदमी पार्टी को मिला यह ऐतिहासिक फैसला बताने के लिए काफी है कि केजरीवाल अब जीत की गारंटी है, दिल्ली मॉडल भरोसे का मॉडल है, आम आदमी पार्टी काम की पार्टी है और झाड़ू का निशान पंजाब में कमल, पंजा, तकली से ज्यादा ताकतवर, ज्यादा असरदार, ज्यादा भरोसेमंद है। चंडीगढ़ शहर से आया यह जीत का स्वाद आम आदमी पार्टी के जोश के जायके को बढ़ा पंजाब, गोवा, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश में नई उम्मीद का संचार करेगा। आप के कार्यकर्ता अब जहाँ दुगने उत्साह, बढ़े हुए मनोबल से जीतने की जिद ले मैदान में उतरेंगे वहीं हताश, निराश कमल दल और सहमी हुई कांग्रेस कार्यकर्ताओं को उत्साहित करने का प्रयास करेगी। यह चुनाव परिणाम ट्रेलर है कहकर राघव चड्ढा ने हुंकार भर दी है कि पिक्चर अभी बाकी है तो आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा जो पंजाब जीतने का रोड मैप चंडीगढ़ ने दिया है जीत बहुत करीब है, तो वही मनीष सिसोदिया ने कार्यकर्ताओं की मेहनत चंडीगढ़ के लोगों का आभार व्यक्त किया। पंजाब चुनाव के मुहाने पर खड़ी आप का चंडीगढ़ जीत लेना राजनीति की बिसात पर ऐसा तुरूप का पत्ता है जिसकी काट हाथ और फूल को तलाशनी होगी।


आम आदमी के हित की नीति, आम आदमी के तकदीर का साथी, आम आदमी की सुरक्षा की गारंटी, आम आदमी के हक की सरकार, देश में जीत का भरोसा, देश में जीत का विकल्प बन अब आप भविष्य की पार्टी बन सामने है। झूठे वादे, झूठी बातें, जुमला बाजी, महंगाई की मार, बेरोजगारी की बात से जूझते मतदाता के बीच सुविधा, सम्मान अधिकार की गारंटी बन खड़े हैं “केजरीवाल”। केजरीवाल का काम, केजरीवाल की बात ही अब भरोसा बन जाता है यह बताने के लिए काफी है चंडीगढ़ की जीत। चंडीगढ़ में बीजेपी की करारी हार मेयर के तिलिस्म का ढह जाना पूर्व तीन मेयर का हार जाना, प्रदेश अध्यक्ष की अपनी ही पत्नी की सीट गंवा देना संकेत साफ है कि अब आप ही आप है।


जीत के रथ पर सवार केजरीवाल अब जब चुनावी सभा करने गोवा, उत्तरप्रदेश, उत्तराखण्ड, पंजाब, जाएंगे तो दहाड़ कर बोलेंगे देश के दिल दिल्ली में बीजेपी को हराया कांग्रेस को जीरो किया, अब देश की राजधानी दिल्ली के पास बसे पंजाब और हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ में भी बीजेपी को चित कर कांग्रेस को समेट दिया है आप ने। बीजेपी से आगे है आप और कांग्रेस है साफ़। अब जब मतदाता लाइव तस्वीरें देख रहा है, खबर पढ़ रहा है यह जीत की गाथा खबरिया चैनल भी दिखा ही रहे हैं आखिर आम आदमी की आवाज कौन कब तक दबा पाएगा? यह जीत की गाथा देश के सामने है जीत की ये तस्वीर आम आदमी ने परिश्रम और पसीने से सजाई है, वह आने वाले चुनाव में और भी शानदार, दमदार, यादगार होगी इस बात से नकारा नहीं जा सकता। आप के चुनावी परिणाम देश भर में आपकी जीत को बढ़ाने का बूस्टर डोज साबित होगा। चंडीगढ़ की अविश्वसनीय अभूतपूर्व जीत के आत्मविश्वास से लबरेज झाड़ू वाले खुशी से नाचते झूमते नजर आएंगे और जन-जन को यह समझाने में भी कामयाब होंगे कि जुमलेबाजी का जवाब है आप, महंगाई की मार का बचाव है आप, वायदों की हकीकत है आप, जीत की गारंटी है आप तो मतदाता मानेगा भी साथ भी देगा और जीत की ज़मीन भी तैयार करेगा। यह सवाल वाजिब ही लगता है कि अब आप दिल्ली का ही नहीं देश का दिल जीतने लगी है, और पाँच राज्य के चुनाव के बाद आम आदमी पार्टी राष्ट्रीय दल बन देश की दिशा दशा तय करने में अहम किरदार भी निभाएगी, लोग सोचने लगे हैं।

Leave a Comment