बच्चों में कोरोना के मामलों में आया बड़ा उछाल, अस्पतालों में भर्ती हुए रिकॉर्ड बच्चे

वॉशिंटगटन, 10 अगस्त (The News Air)
अमेरिका में कोरोना वायरस (Coronavirus in America) के डेल्टा वैरिएंट के कारण संक्रमण के मामलों में बहुत बड़ा उछाल देखने को मिल रहा है और यह तेजी से बच्चों को अपनी चपेट में भी ले रहा है. इस कारण अमेरिका के अस्पतालों में भर्ती कोविड-19 से संक्रमित बच्चों की संख्या दिन प्रति दिन बढ़ती जा रही है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक यह डेल्टा वैरिएंट की वजह से हो रहा है, क्योंकि यह अल्फा स्ट्रेन की तुलना में बच्चों को अधिक संक्रमित (Delta Variant being more likely to infect Children) करता है।
कम टीकाकरण होने से बढ़ रही है समस्या- कम टीकाकरण (Corona Vaccination) होने के कारण सामना कर रहे अमेरिका के कई हिस्सों में यह प्रवृत्ति विशेष रूप से सामने आई है। कम वैक्सीनेशन वाले क्षेत्रों में कोविड-19 से संक्रमित बच्चों के अस्पताल में भर्ती होने की संख्या में काफी तेजी देखी जा रही है. टेक्सास चिल्ड्रन हॉस्पिटल (Texas Children’s Hospital) के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. जेम्स वर्सालोविक ने कहा, ‘जुलाई की शुरुआत से हमने मामलों की संख्या में लगातार वृद्धि देखी गई है और हमने अस्पताल में भर्ती बच्चों में भी वृद्धि देखी है.’
डेल्टा वैरिएंट के कारण बढ़े मामले- डॉ. जेम्स वर्सालोविक ने जानकारी देते कहा, ‘इसे यहां चौथी लहर भी माना जा रहा है और यह डेल्टा वैरिएंट (Delta Variant) की वजह से ही है. डेल्टा वैरिएंट अभी तक ज्ञात कोविड-19 से सभी स्ट्रेन में सबसे ज्यादा संक्रामक हो गया है. कोरोना से संक्रमित 90 प्रतिशत से अधिक बच्चों में डेल्टा वैरिएंट के लक्षण पाए गए है।’
12 वर्ष से कम आयु के लिए वैक्सीन नहीं- डॉक्टर ने बताया, ‘हकीकत यह भी है कि 12 वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए अभी तक वैक्सीन नहीं है. 12 वर्ष या उससे ज्यादा आयु के बच्चों को वैक्सीन लगाई जा रही है, लेकिन किसी को अभी तक टीका नहीं लगाया गया है. अभी भी इस क्षेत्र में 50 प्रतिशत से भी कम युवा हैं, जिन्हें पूरी तरह से वैक्सीनेट कर दिया गया है.
12 वर्ष से ज्यादा आयु के बच्चों को दी जा रही वैक्सीन- बता दें कि अमेरिका में फाइजर की कोरोना वैक्सीन (Pfizer Corona Vaccine for Children) को मंजूरी मिल चुकी है, हालांकि यह 12 से 17 वर्ष के बच्चों को लगाई जा रही है. फाइजर ने मार्च माह में आंकड़ों को जारी कर जानकारी दी थी कि 12 से 15 वर्ष के 2,260 वॉलेंटियर्स को यह वैक्सीन दी गई, जिसके उपरांत किसी भी बच्चे में कोरोना का कोई मामला सामने नहीं आया. उन्होंने इस बात का भी दावा किया था कि उनका वैक्सीन बच्चों पर पूरे 100 प्रतिशत असरदार है.
फ्लोरिडा के अस्पतालों में भर्ती हुए रिकॉर्ड बच्चे- विश्लेषण के मुताबिक फ्लोरिडा ने लगातार 8 दिनों तक बच्चों के अस्पताल में भर्ती होने का रिकॉर्ड बनाया है. यह उस समय हो रहा है, जब टेक्सास और फ्लोरिडा में अधिकांश छात्र इस माह स्कूल में वापस आने वाले हैं. इस बीच कुछ स्कूल इस बात पर भी बहस कर रहे हैं कि क्या बच्चों के लिए मास्क की आवश्यकता है।

Leave a Comment