शिअद ने कैप्टन से किया अनुरोध, राज्य में संकटपूर्ण स्थिति पर चर्चा के लिए बुलाई जाए सर्वदलीय बैठक

चंडीगढ़, 12 मई

शिरोमणी अकाली दल ने आज मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से अनुरोध किया है कि वे समाज के विभिन्न वर्गों को वित्तीय राहत प्रदान करने के तरीकों और साधनों पर चर्चा करने के अलावा राज्य में बढ़ती मृत्यु दर को दखते हुए इस अनिश्चित स्थिति पर चर्चा करने के लिए सर्वदलीय मीटिंग बुलाए।

यह निर्णय यहां पार्टी अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल की अध्यक्षता में हुई मीटिंग में लिया गया। मीटिंग में भाग लेने वाले पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि कांग्रेस सरकार को कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में एकजुट होकर कोशिश करनी चाहिए तथा यह सुनिश्चित करने के लिए सर्वदलीय मीटिंग जरूरी है ताकि सभी दल एक दूसरे के साथ तालमेल बनाकर काम करें और लोगों का आवश्यक सहायता प्रदान करने के प्रयासों में सरकार की सहायता करें अकाली दल अध्यक्ष ने खाद्य सेवा और प्लाज्मा दान सहित अकाली दल और यूथ अकाली दल द्वारा प्रदान करी जा रही मानवीय सहायता की भी समीक्षा की और इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि सहायता सेवाओं को 50 निर्वाचन क्षेत्रों तक बढ़ा  दिया गया है। उन्होने कहा कि अगले कुछ दिनों में सभी हलकों तक पहुंचने का प्रयास किया जाएगा।

मीटिंग में राज्य में चल रहे लाॅकडाउन के कारण लोगों को आ रही समस्याओं पर भी ध्यान दिया गया और समाज के सभी वर्गों को राहत देने पर जोर दिया गया । इसमें कहा गया है कि सबसे अधिक प्रभावित टैक्सी चलाने वाले, रिक्शा चालक, छोटे दुकानदार और मजदूरों को शािमल किया और सरकार से उन्हे वित्तीय राहत प्रदान करने का अनुरोध किया गया है। सरकार से बैंक कर्जा अस्थिगत कर मध्यम वर्ग को राहत देने और छह महीने के लिए किस्तें माफ करने की मांग की है, साथ ही सरकार से व्यापारिक समुदाय की शिकायतों का जल्द से जल्द समाधान करने के लिए कहा गया है।

कोविड इलाज से जुड़ी दवाओं की कालाबाजारी के बारे में बोलते हुए सरदार बादल ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि निजी अस्पताल कोविड मरीजों से लाखों रूपये वसूलने लगे है और सरकार इन आरोपों को विनियमित करने के लिए कुछ भी नही कर रही है। उन्होने कहा कि सरकार को काले बाजारियेां के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के अलावा निजी अस्पतालों द्वारा वसूले जा रहे शुल्क को कम करना चाहिए ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जीवन रक्षक दवाएं कोविड रोगियों को बाजार मूल्य पर उपलब्ध हों।

बादल ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा सीधे आदेश देने चाहिए तथा कोविड वैक्सीन की खरीद के लिए अंतरराष्ट्रीय निविदाएं खोली जानी चाहिए। उन्होने कहा कि यह रिपोर्ट है कि पंजाब में वैक्सीन केवल एक दिन की ही बचीह है तथा दवाईयों की कमी के कारण लोगों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। इसे तुरंत सुधार लाया जाना चाहिए। उन्होने अस्पतालों में मेडिलक आक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने और इसकी सप्लाई में तेजी लाई जानी चाहिए।

Leave a Comment