PK ने सोनिया का ऑफर ठुकराया:कहा- कांग्रेस को मेरी नहीं अच्छी..

The News Air: आख़िरकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस का दामन थामने से इनकार कर दिया है। पिछले 15 दिनों से अटकलें चल रही थीं कि प्रशांत कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे। ख़ुद प्रशांत ने 600 पेज का प्रेजेंटेशन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को दिखाया था। इसके बाद सोनिया ने 8 सदस्यों की कमेटी से PK को पार्टी में शामिल करने पर सलाह माँगी थी।
कमेटी ने सलाह दी कि प्रशांत कांग्रेस में आएं तो बाक़ियों का साथ छोड़ दें। मंगलवार को कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने ट्वीट किया- कांग्रेस अध्यक्ष ने एक एम्पॉवर्ड एक्शन ग्रुप 2024 का गठन किया और प्रशांत किशोर को ज़िम्मेदारी देते हुए ग्रुप में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। लेकिन, उन्होंने मना कर दिया। हम पार्टी को दिए गए उनके प्रयासों और सुझावों की सराहना करते हैं।

unnamed 7 1650970943

पीके बोले-कांग्रेस को मेरी ज़रूरत नहीं

सुरजेवाला के बयान के बाद ख़ुद PK ने यह साफ़ कर दिया कि वे कांग्रेस में शामिल नहीं हो रहे हैं।प्रशांत ने लिखा है- मैंने एम्पॉवर्ड एक्शन ग्रुप का हिस्सा बनने, पार्टी में शामिल होने और चुनावों की ज़िम्मेदारी लेने के कांग्रेस का प्रस्ताव ठुकरा दिया है। मेरी राय में पार्टी की अंदरूनी समस्याओं को ठीक करने के लिए, कांग्रेस को मुझसे ज़्यादा लीडरशिप और मज़बूत इच्छाशक्ति की ज़रूरत है।

कल ही बनाई हैं 6 कमेटियां

unnamed 2 1650969687

कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला ने सोमवार को कहा था कि 2024 लोकसभा चुनाव में क्या नीति रहेगी, इसका फ़ैसला एम्पॉवर्ड एक्शन ग्रुप ही करेगा। 10 जनपथ में हुई बैठक में कांग्रेस ने भविष्य को लेकर बड़ा फ़ैसला लिया गया, जिसके तहत कांग्रेस ने 6 नई कमेटियां बनाई गईं।
इन सभी 6 कमेटियों के अलग-अलग संयोजक के तौर पर मल्लिकार्जुन खड़गे, सलमान खुर्शीद, पी चिदंबरम, मुकुल वासनिक, भूपिंदर सिंह हुड्डा और अमरिंदर सिंह वारिंग काम करेंगे।

कमेटी ने सौंपी थी किशोर की एंट्री पर रिपोर्ट

सोनिया गांधी ने प्रशांत की प्रेजेंटेशन और उनके पार्टी में शामिल होने पर विचार करने के लिए कांग्रेस नेताओं की समिति का गठन किया था। इस कमेटी ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपनी रिपोर्ट सौंपी, प्रशांत पर फ़ैसला लेने के लिए कमेटी के सदस्य केसी वेणुगोपाल, दिग्विजय सिंह, अंबिका सोनी, रणदीप सुरजेवाला, जयराम रमेश और प्रियंका गांधी वाड्रा 10 जनपथ गए थे।
कमेटी यह भी चाहती थी कि प्रशांत बाक़ी सभी राजनीतिक दलों से दूरी बना लें और पूरी तरह कांग्रेस के लिए समर्पित हो जाएं। प्रशांत किशोर ने सुझाव दिया था कि कांग्रेस, ममता बनर्जी की TMC और केसीआर की TRS जैसी रीजनल पार्टीज से गठबंधन कर ले।

प्रेजेंटेशन देने के बाद बदला PK का फ़ैसला

PK ने कांग्रेस को 600 पेज का प्रेजेंटेशन भी दिया था, जिसमें यह बताया गया था कि पार्टी को सत्ता में वापसी के लिए क्या करना होगा। हालांकि कांग्रेस के कई दिग्गजों ने पहले ही प्रशांत से किनारा कर लिया था। वे ख़ुद हैदराबाद में 2 दिन तक तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर (KCR) के घर डेरा डाले हुए थे।

Leave a Comment