मोदी का अलीगढ़ दौरा: यह देश का दुर्भाग्य है कि नई पीढ़ी को राष्ट्र नायक-नायिकाओं से अवगत नहीं कराया गया


अलीगढ़, 14 सितंबर (The News Air)
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) आज अलीगढ़ में राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय(Raja Mahendra Pratap Singh State University) का शिलान्यास करने पहुंचे। यह यूनिवर्सिटी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के बगल में बन रही है। भाजपा लंबे समय से अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी(AMU) का नाम बदलकर राजा महेंद्र प्रताप सिंह रखने की मांग करती आ रही थी। इससे पहले प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश रक्षा औद्योगिक गलियारे के अलीगढ़ नोड तथा राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय के मॉडलों की प्रदर्शनी का अवलोकन करने पहुंचे। इस मौक़े पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदी बैन पटेल भी मौजूद रहीं।

देश का दुर्भाग्य है-मोदी ने कहा-हमारी आज़ादी के आंदोलन में कई महान व्यक्तित्वों ने अपना सबकुछ खपा दिया। लेकिन यह देश का दुर्भाग्य रहा है कि आज़ादी के बाद ऐसे राष्ट्र नायक और नायिकाओं को अगली पीढ़ियों को परिचित ही नहीं कराया गया। उनकी गाथाओं से कई पीढ़ियां वंचित रह गईं। 20वीं सदी की ग़लतियों को 21वीं सदी का भारत सुधार रहा है।

कल्याण सिंह को याद किया-मोदी ने कहा-मैं आज स्वर्गीय कल्याण सिंह जी की अनुपस्थिति बहुत ज़्यादा महसूस कर रहा हूं। आज कल्याण सिंह जी हमारे साथ होते तो राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय और डिफेंस सेक्टर में बन रही अलीगढ़ की नई पहचान को देखकर बहुत ख़ुश हुए होते। आज अलीगढ़ के लिए, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए बहुत बड़ा दिन है। आज राधाष्टमी है, जो आज के दिन को और भी पुनीत बनाता है। बृज भूमि के कण-कण में राधा ही राधा हैं। मैं पूरे देश को राधाष्टमी की हार्दिक बधाई देता हूं। आज देश के प्रधानमंत्री के नाते मुझे फिर से एक बार ये सौभाग्य मिला है कि मैं राजा महेंद्र प्रताप सिंह जैसे विजनरी और महान स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर बन रहे विश्वविद्यालय का शिलान्यास कर रहा हूं।

राजा महेंद्र प्रताप सिंह के बारे में बोले मोदी-राजा महेंद्र प्रताप सिंह सिर्फ़ भारत की आज़ादी के लिए ही नहीं लड़े। उन्होंने भारत के भविष्य की नींव में भी सक्रिय योगदान दिया था। उन्होंने अपने देश-विदेश की यात्राओं से मिले अनुभवों का उपयोग भारत की शिक्षा व्यवस्था को आधुनिक बनाने के लिए किया। राजा महेंद्र प्रताप सिंह जी के जीवन से हमें अदम्य इच्छाशक्ति, अपने सपनों को पूरा करने के लिए कुछ भी कर गुज़रने वाली जीवटता सीखने को मिलती है। वो भारत की आज़ादी चाहते थे और अपने जीवन का एक-एक पल उन्होंने इसी के लिए समर्पित कर दिया था। वृंदावन में आधुनिक टेक्निकल कॉलेज उन्होने अपनी पैतृक संपत्ति को दान करके बनाया था। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के लिए ज़मीन भी राजा महेंद्र प्रताप सिंह ने ही दी थी। आज मां भारती के अमर सपूत के नाम पर विश्वविद्यालय का निर्माण उन्हें सच्ची कार्याजंलि है।

भारत अहम रक्षा निर्यातक की छवि की ओर बढ़ रहा-मोदी ने कहा-आज देश ही नहीं दुनिया भी देख रही है कि आधुनिक ग्रेनेड और राइफ़ल से लेकर लड़ाकू विमान, ड्रोन, युद्धपोत भारत में निर्मित हो रहे हैं। भारत दुनिया के एक बड़े रक्षा आयातक की छवि से बाहर निकलकर दुनिया के एक अहम रक्षा निर्यातक की छवि बनाने की तरफ़ बढ़ रहा है।

अलीगढ़ देश की सीमाओं की रक्षा करेगा-मोदी ने कहा-कल तक जो अलीगढ़ तालों के ज़रिए घरों, दुकानों की रक्षा करता था, वो 21वीं सदी में हिंदुस्तान की सीमाओं की रक्षा करने का काम करेगा। वन डिस्ट्रिक, वन प्रोडक्ट के माध्यम से यूपी सरकार ने अलीगढ़ के तालों और हार्डवेयर को एक नई पहचान दिलाने का काम किया है। आज उत्तर प्रदेश देश और दुनिया के हर छोटे-बड़े निवेशक के लिए बहुत आकर्षक स्थान बनता जा रहा है। ये तब होता है जब निवेश के लिए ज़रूरी माहौल बनता है, ज़रूरी सुविधाएं मिलती हैं। आज यूपी डबल इंजन सरकार के डबल लाभ का एक बहुत बड़ा उदाहरण बन रहा है। अलीगढ़ में ही रक्षा उत्पादन से जुड़ी डेढ़ दर्ज़न कंपनियां सैकड़ों करोड़ रु के निवेश से हज़ारों नए रोज़गार बनाने वाली है। अलीगढ़ नोड में छोटे हथियार, आयुध, ड्रोन, एयरोस्पेस, मैटर कंपोनेंट्स, एंटी ड्रोन सिस्टम जैसे उत्पाद बन सकें, इसके लिए नए उद्योग लगाए जा रहे हैं।

यह भी बोले मोदी-समाज में विकास के अवसरों से जिन्हें दूर रखा गया, ऐसे हर समाज को शिक्षा और सरकारी नौकरियों में अवसर दिए जा रहे हैं। आज उत्तर प्रदेश की चर्चा बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट और बड़े फ़ैसलों के लिए होती है।

यूपी के घोटालों पर बोले मोदी-यूपी के लोग भूल नहीं सकते कि पहले यहां किस तरह के घोटाले होते थे, किस तरह राज-काज को भ्रष्टाचारियों के हवाले कर दिया गया था। आज योगी जी की सरकार पूरी ईमानदारी से यूपी के विकास में जुटी हुई है। मुझे आज ये देखकर बहुत ख़ुशी होती है कि जिस यूपी को देश के विकास में एक रुकावट के रूप में देखा जाता था, वही यूपी आज देश के बड़े अभियानों का नेतृत्व कर रहा है।

माफ़िया राज़ ख़त्म-मोदी ने कहा-एक दौर था जब यहां शासन-प्रशासन, गुंडों और माफ़ियाओं की मनमानी से चलता था। लेकिन अब वसूली करने वाले, माफ़िया राज़ चलाने वाले सलाख़ों के पीछे हैं।

किसानों पर बोले मोदी-केंद्र सरकार का निरंतर प्रयास है कि छोटी जोत वालों को ताक़त दी जाए। डेढ़ गुणा MSP हो, किसान क्रेडिट कार्ड का विस्तार हो, बीमा योजना में सुधार हो, 3 हज़ार रुपए की पेंशन की व्यवस्था हो, ऐसे अनेक फ़ैसले छोटे किसानों को सशक्त कर रहे हैं। देश के जिन छोटे किसानों की चिंता चौधरी चरण सिंह जी को थी, उनके साथ सरकार एक साथी की तरह खड़ी रहे, ये बहुत ज़रूरी है। इसलिए केंद्र सरकार का निरंतर प्रयास है कि छोटी जोत वाले किसानों को ताक़त दी जाए।

योगी ने कहा-आज राधा अष्टमी भी है और ब्रज क्षेत्र के लिए आज के दिन का बड़ा महत्व है। ये हमारा सौभाग्य है कि प्रधानमंत्री आज इस अलीगढ़ की पावन भूमि पर अपना मार्गदर्शन और आशीर्वाद प्रदान करने के लिए और यहां की बहुप्रतीक्षित मांगों को पूरा करने के लिए स्वयं हमारे बीच उपस्थित हैं। फरवरी 2018 में प्रधानमंत्री ने उ.प्र. के पहले इन्वेस्टर समिट का उद्घाटन स्वयं आकर किया था, आज उसका परिणाम है कि उ.प्र. में 3 लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश हुआ और उ.प्र. के 1 करोड़ 61 लाख नौजवानों को अपने ही गांव में, अपने ही जनपद में रोज़गार और नौकरी मिली।

राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय के बारे में-इस विश्वविद्यालय को राज्य सरकार महान स्वतंत्रता सेनानी, शिक्षाविद् और सामाजिक सुधारक राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी के सम्मान में स्थापित कर रही है। विश्वविद्यालय की स्थापना अलीगढ़ की कोल तहसील के गांव लोधा और गांव मूसेपुर करीम जरौली में 92 एकड़ से अधिक रक़बे की ज़मीन पर होगी। अलीगढ़ प्रखंड के 395 कॉलेज इस विश्वविद्यालय से सम्बद्ध होंगे।

उत्तर प्रदेश रक्षा औद्योगिक गलियारे के बारे में-उत्तर प्रदेश में रक्षा औद्योगिक गलियारे की स्थापना की घोषणा प्रधानमंत्री ने 21 फरवरी, 2018 को लखनऊ में आयोजित उत्तर प्रदेश निवेशक सम्मेलन का उद्घाटन करने के दौरान की थी। रक्षा औद्योगिक गलियारे के छह नोड–अलीगढ़, आगरा, कानपुर, चित्रकूट, झांसी और लखनऊ की योजना बनाई गई है। अलीगढ़-नोड के सिलसिले में भूमि आवंटन प्रक्रिया पूरी कर ली गई है और 19 फर्मों को ज़मीन आवंटित कर दी गई है, जो इसके विकास के लिये 1245 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी। उत्तर प्रदेश के रक्षा औद्योगिक गलियारे से देश को रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने और ‘मेक इन इंडिया’ को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।


Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

I Have Disabled The AdBlock Reload Now
Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro