Twitter पर हैकर्स का हमला, 20 करोड़ यूजर्स के ईमेल एड्रेस लीक

माइक्रोब्लॉगिंग साइट Twitter ट्विटर पर हैकर्स लगातार अटैक कर रहे हैं। इस बार हैकर्स ने 20 करोड़ से अधिक ट्विटर यूजर्स के ईमेल एड्रेस चुराकर एक हैकिंग फोरम पर पोस्ट किए हैं। हैकर्स की पहचान या लोकेशन के बारे में कोई संकेत नहीं मिले हैं। यह मामला बिलिनेयर Elon Musk के पिछले वर्ष के अंत में कंपनी को टेकओवर करने से पहले का हो सकता है।

इजरायल की सायबर सिक्योरिटी मॉनिटरिंग फर्म Hudson Rock के को-फाउंडर, Alon Gal ने LinkedIn पर इसकी जानकारी देते हुए कहा है कि इससे हैकिंग और फिशिंग के मामले बढ़ेंगे। उन्होंने इसे बड़े लीक्स में से एक बताया है। इस हैकिंग के बारे में Gal ने पहली बार 24 दिसंबर को सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। ट्विटर ने इस रिपोर्ट पर कोई टिप्पणी नहीं की है। यह पता नहीं चला है कि ट्विटर ने इस मामले में जांच या इसके समाधान के लिए कोई कार्रवाई की है या नहीं। Reuters यह पुष्टि नहीं कर सका है कि हैकिंग फोरम पर पोस्ट किया गया डेटा वास्तविक है या नहीं। इस हैकिंग फोरम से स्क्रीनशॉट ऑनलाइन सर्कुलेट हुए हैं।

ट्विटर में डेटा की किसी बड़ी चोरी पर रेगुलेटर्स कदम उठा सकते हैं। ट्विटर का यूरोपियन हेडक्वार्टर आयरलैंड में है। आयरलैंड में डेटा प्रोटेक्शम कमीशन और अमेरिका का फेडरल ट्रेड कमीशन डेटा प्रोटक्शन रूल्स के पालन को लेकर ट्विटर की निगरानी कर रहे हैं। पिछले महीने के अंत में ट्विटर के लगभग 40 करोड़ यूजर्स का डेटा चुराकर डार्क वेब पर बिक्री के लिए डालने की रिपोर्ट आई थी। यह ट्विटर में डेटा के लीक होने के बड़े मामलों में से एक है। हैकर ने डेटा के वास्तविक होने का सबूत देने के लिए एक सैम्पल दिया है। इसमें यूजर्स का नाम, ईमेल, फॉलोअर्स की संख्या और कुछ मामलों में फोन नंबर भी शामिल है। इसमें मिनिस्ट्री ऑफ इनफॉर्मेशन एंड ब्राडकॉस्टिंग, बॉलीवुड एक्टर सलमान खान और गूगल के सीईओ सुंदर पिचई का यूजर डेटा भी शामिल है।

पिछले महीने आयरलैंड के डेटा प्रोटेक्शन कमीशन (DPC) ने ट्विटर के 5.4 करोड़ से अधिक यूजर्स का डेटा लीक होने के मामले की जांच करने की घोषणा की थी। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, डेटा लीक के मौजूदा मामले में हैकर ने कुछ हाई प्रोफाइल लोगों के साथ ही अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA और वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) के ट्विटर पर डेटा को भी चुरा लिया है।

Leave a Comment