e-RUPI, डिजिटल वाउचर हुआ लॉन्च, जाने e-RUPI से क्या-क्या हैं फ़ायदे

नई दिल्ली, 2 अगस्त (The News Air)

डिजिटल पेमेंट को प्रमोट करने के लिए पीएम मोदी ने सोमवार को e-RUPI, डिजिटल वाउचर लॉन्च किया। e-RUPI प्रीपेड ई वाउचर से कैशलैस पेमेंट किया जा सकता है। e-RUPI प्रीपेड ई वाउचर को नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया यानी NPCI ने बनाया है। 

वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिए पीएम मोदी ने इसे लांच करते हुए इसकी ख़ूबियाँ बताई। उन्होंने कहा कि भारत में डिजिटल ट्रांजेक्शन और डीबीटी के लिए यह वरदान साबित होगा। यह बेहद आसान तरीक़ा होगा कैशलैस पेमेंट के लिए। उन्होंने कहा कि e-RUPI प्रीपेड ई वाउचर एक उदाहरण है कि किस तरह भारत 21वीं शताब्दी में एडवांस तकनीकी से कनेक्ट होकर विकास की गाथा लिख रही है। मुझे ख़ुशी है कि इसकी शुरूआत उस समय हुई जब देश अपनी आज़ादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। 

पीएम मोदी ने कहा कि इस वाउचर का उपयोग केवल सरकार ही नहीं बल्कि गैर सरकारी संस्था भी कर सकते हैं। अगर कोई किसी का मेडिकल या एजुकेशन के लिए मदद करना चाहता है तो वह कैश देने की बजाय डोनेशन e-RUPI प्रीपेड ई वाउचर के रूप में दे सकेगा। इसका लाभ यह होगा कि यह केवल उसी काम के लिए उपयोग हो सकेगा। 

e-RUPI से क्या-क्या फ़ायदे हैं? 

1- e-RUPI डिजिटल भुगतान के लिए एक कैशलैस और संपर्क रहित साधन है। यह क्यूआर कोड या SMS स्ट्रिंग के आधार पर ई-वाउचर की तरह काम करता है। 

2- इसके ज़रिए सरकारी योज़नाओं का फ़ायदा सीधे लाभार्थियों तक पहुंचेगा। इससे भ्रष्टाचार में कमी आएगी। 

3- ये यही भी सुनिश्चित करता है कि लेन-देन पूरा होने के बाद ही सर्विस प्रोवाइडर को भुगतान किया जाए। 

4- इस वन टाइम पेमेंट सर्विस में यूजर्स बिना कार्ड, डिजिटल पेमेंट या इंटरनेट बैंकिग के बावज़ूद वाउचर को रिडीम कर सकेंगे।

5- इसका इस्तेमाल बाल कल्याण योजनाओं, दवा देने वाली योजनाओं, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में जरूरतमंदों को फ़ायदा पहुंचाने में की जा सकती है। 

Leave a Comment